Top 10 Satsang Bhajan Lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

Share:

Top 10 Satsang Bhajan Lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

1. आना पवन कुमार, हमारे हरी कीर्तन में

आना पवन कुमार,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
आना पवन कुमार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना पवन कुमार,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
आप भी आना संग में,
रामजी लाना,
लाना जनक दुलार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
भरत जी को लाना,
लक्ष्मण जी को लाना,
लाना सब परिवार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
कृष्ण जी को लाना,
और राधा जी को लाना,
लाना लखदातार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
शिव जी को लाना,
मैया जी को लाना,
लाना मदन मुरार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
सुमति को लाना,
कुमति को हटाना,
करना बेड़ा पार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
कावड़ संघ पे कृपा कर के,
सुनलो मेरी पुकार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में।।
 
आना पवन कुमार,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना अंजनी के लाल,
हमारे हरी कीर्तन में,
आना पवन कुमार,
हमारे हरी कीर्तन में।।

2. ओ पापी मन करले भजन | Satsang Bhajan Lyrics

Aa Gaye Bhagwadhari Lyrics आ गए भगवाधारी लिरिक्स
सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी, Satsang Bhajan Lyrics

यहाँ – ओ पापी मन करले भजन बाद में प्यारे पछताएगा लिरिक्स, O Papi Man Karle Bhajan Lyrics दिया गया है-

भजन -​​ ओ पापी मन करले भजन बाद में प्यारे पछताएगा लिरिक्स
तर्ज – जिसका मुझे था इंतजार
स्वर – श्री अनिरुद्धाचार्य जी महाराज

ओ पापी मन करले भजन,
मौका मिला है तो करले जतन ||

ओ पापी मन करले भजन,
मौका मिला है तो करले जतन,
बाद में प्यारे पछताएगा जब,
पिंजरे से पंछी निकल जाएगा||

चार दिनों का है जग का मेला,
कोई ना साथी संगी अकेला।
जैसा तू आया जग में वैसा ही तू जाएगा,
मुठ्ठी बाँध के आया जग में,
हाथ पसारे जाएगा,
हो बाद में प्यारे पछताएगा जब,
पिंजरे से पंछी निकल जाएगा||

भाई बंधू कुटुंब कबीला,
ये तो जग का झूठा झमेला,
मरने के बाद तुझे आग में जलाएंगे,
तेरह दिनों का तेरा मातम मनाएंगे,
बाद में प्यारे पछताएगा जब,
पिंजरे से पंछी निकल जाएगा||

राम नाम का सुमिरण करले,
राम जी का नाम प्यारे घट में धर ले,
राम जी का नाम प्यारे काम तेरे आएगा,
जीवन मरण से तू मुक्ति पा जायेगा,
बाद में प्यारे पछताएगा जब,
पिंजरे से पंछी निकल जाएगा||

ओ पापी मन करले भजन,
मौका मिला है तो करले जतन,
बाद में प्यारे पछताएगा जब,
पिंजरे से पंछी निकल जाएगा||

अन्य मनमोहक भजन-


3. मनुष जनम अनमोल रे | Satsang Bhajan lyrics

यहाँ Manush Janam Anmol Re Lyrics, मनुष जनम अनमोल रे लिरिक्स (Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी) दिया गया है-

Manush Janam Anmol Re Lyrics
Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

मनुष जनम अनमोल रे,
मिट्टी मे ना रोल रे,
अब जो मिला है फ़िर ना मिलेगा,
कभी नही कभी नही रे||
ॐ साई नमो नमः,
श्री साई नमो नमः ||

तु सत्संग मे आया कर,
गीत प्रभु के गाया कर,
साँझ सवेरे बेठ के बन्दे,
गीत प्रभु के गाया कर |

नही लगता कुछ मोल रे,
मिट्टी मे ना रोल रे,
अब जो मिला है फ़िर ना मिलेगा,
कभी नही कभी नही रे||

तु है बूद बूद पानी का,
मत कर जोर जवानी का,
समझ समझ के क़दम रखो,
पता नही ज़िन्दगानी का |

सबसे मीठा बोल रे,
मिट्टी मे ना रोल रे,
अब जो मिला है फ़िर ना मिलेगा,
कभी नही कभी नही रे||

मतलब का संसार है,
इसका क्या ऐतबार है,
सम्भल सम्भल के क़दम रखो,
फूल नही अंगार है |

मन की आँखे खोल रे,
मिट्टी मे ना रोल रे,
अब जो मिला है फ़िर ना मिलेगा,
कभी नही कभी नही रे||

मनुष जनम अनमोल रे,
मिट्टी मे ना रोल रे,
अब जो मिला है फ़िर ना मिलेगा,
कभी नही कभी नही रे||
ॐ साई नमो नमः श्री साई नमो नमः ||

अन्य मनमोहक भजन-


4. साँवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है | Satsang Bhajan lyrics

Top 10 Krishna bhajan lyrics

Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

यहाँ – साँवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है लिरिक्स, Sanware Se Milne Ka Lyrics दिया गया है-

भजन – साँवरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है लिरिक्स
फ़िल्मी तर्ज – बाबुल का ये घर

साँवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है,
चलो सत्संग में चलें |
हमें हरी गुण गाना है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||

मथुरा में ढूंढा तुझे,
गोकुल में पाया है,
वृन्दावन की गलियों में |
मेरे श्याम का ठिकाना है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||

बागो में ढूँढा तुझे,
फूलों मे पाया है,
मोगरे की कलियों में |
मेरे श्याम का ठीकाना है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||

सखियों ने ढूँढा तुझे,
गोपियों ने पाया है,
राधा जी के हृदय में |
मेरे श्याम का ठीकाना है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||

राधा ने ढूंढा तुझे,
मीरा ने पाया है,
मैंने तुझे पा ही लिया |
मेरे दिल में ठिकाना है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||

महलों मे ढूँढा तुझे,
झोपड़ी में पाया है,
सुदामा की कुटिया में |
मेरे श्याम का बसेरा है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||

मीरा पुकार रही,
आओ मेरे गिरधारी,
विष भरे प्याले को |
तुम्हे अमृत बनाना है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||

साँवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है,
चलो सत्संग में चलें |
हमें हरी गुण गाना है,
सांवरे से मिलने का,
सत्संग ही बहाना है ||


5. श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी | सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

Top 10 Satsang Bhajan lyrics
Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

यहाँ Shri Krishna Govind Hare Murari Lyrics In Hindi, श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी दिया गया है –

श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी,
हे नाथ नारायण वासुदेवा |
पितु मात स्वामी सखा हमारे,
हे नाथ नारायण वासुदेवा ||

बंदी गृह के तुम अवतारी,
कहीं जन्मे कहीं पले मुरारी |
किसी के जाए किसी के कहाये,
है अद्भुत हर बात तिहारी ||

गोकुल में चमके मथुरा के तारे,
हे नाथ नारायण वासुदेवा |
श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी,
हे नाथ नारायण वासुदेवा ||

अधर में बंशी ह्रदय में राधे,
बट गए दोनों में आधे आधे |
हे राधा नागर हे भक्त वत्सल,
सदैव भक्तो के काम साधे ||

वहीं गए जहाँ गए पुकारे,
हे नाथ नारायण वासुदेवा,
श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी,
हे नाथ नारायण वासुदेवा ||

गीता में उपदेश सुनाया,
धर्म युद्ध को धर्म बताया |
कर्म तो कर मत रख,
फल की इक्षा,
ये सन्देश तुम्ही से पाया ||

अमर है गीता के बोल सारे,
हे नाथ नारायण वासुदेवा |
श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी,
हे नाथ नारायण वासुदेवा ||

राधे कृष्णा राधे कृष्णा,
राधे राधे कृष्णा कृष्णा |
राधे कृष्णा राधे कृष्णा,
राधे राधे कृष्णा कृष्णा ||

श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी,
हे नाथ नारायण वासुदेवा |
पितु मात स्वामी सखा हमारे,
हे नाथ नारायण वासुदेवा ||

इसे भी पढ़ें:-


6. ​​म्हारा कीर्तन में रस बरसाओ | सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

Mhara Kirtan Me Ras Barsao Lyrics
Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

यहाँ – ​​म्हारा कीर्तन में रस बरसाओ लिरिक्स, Mhara Kirtan Me Ras Barsao Lyrics दिया गया है-

भजन -​​ म्हारा कीर्तन में रस बरसाओ लिरिक्स

म्हारा कीर्तन में रस बरसाओ लिरिक्स, Mhara Kirtan Me Ras Barsao Lyrics in Hindi

म्हारा कीर्तन में रस बरसाओ,
म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ, बरसाओ,
आओ जी गजानन आओ ||

म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ, बरसाओ,
आओ जी गजानन आओ ||

ॐ गण गणपतये नमो नमः
श्री सिद्धिविनायक नमो नमः
अष्टविनायक नमो नमः
गणपती बाप्पा मोरया

रणत भंवर से आओ जी गजानन,
रिद्धि सिद्धि ने संग प्रभु लाओ ||
आओ जी गजानन आओ ||

म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ, बरसाओ,
आओ जी गजानन आओ ||

पार्वती के पुत्र गजानन,
भोले शंकर के मन भाओ ||
आओ जी गजानन आओ ||

म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ, बरसाओ,
आओ जी गजानन आओ ||

हम सबके प्रभु गणपति न्यारे,
सब हर्ष हर्ष गुण गाओ गुण गाओ ||
आओ जी गजानन आओ ||

म्हारा कीर्तन मे रस बरसाओ, बरसाओ,
आओ जी गजानन आओ ||

अन्य मनमोहक भजन-


7. श्याम सपनों में आता क्यों नहीं | Satsang Bhajan lyrics

Main To Tum Sang Lyrics
Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

यहाँ – ​​श्याम सपनों में आता क्यों नहीं लिरिक्स, Shyam Sapno Me Aata Kyu Nahi Lyrics (Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी) दिया गया है-

भजन -​​ श्याम सपनों में आता क्यों नहीं लिरिक्स

श्याम सपनों में आता क्यों नहीं लिरिक्स, Shyam Sapno Me Aata Kyu Nahi Lyrics in Hindi

श्याम सपनों में आता क्यों नहीं
प्यारी सूरत दिखता क्यों नहीं |
श्याम सपनों में आता क्यों नहीं
प्यारी सूरत दिखता क्यों नहीं ||

मेरा दिल तो दीवाना हो गया
मेरा दिल तो दीवाना हो गया
मुझे दिल से लगाता क्यों नहीं ||

श्याम सपनों में आता क्यों नहीं
श्याम सपनों में आता क्यों नहीं ||

मेरे नैनो में सूरत श्याम की
मेरे नैनो में सूरत श्याम की
मेरे नैनो में सूरत श्याम की
मेरे नैनो में सूरत श्याम की
मुझे सूरत दिखाता क्यों नहीं ||

श्याम सपनों में आता क्यों नहीं
श्याम सपनों में आता क्यों नहीं ||

तेरे प्यार का आधा पागल हूँ
तेरे प्यार का आधा पागल हूँ
तेरे प्यार का आधा पागल हूँ
पूरा पागल बनाता क्यों नहीं ||

श्याम सपनों में आता क्यों नहीं
प्यारी सूरत दिखता क्यों नहीं |
श्याम सपनों में आता क्यों नहीं
प्यारी सूरत दिखता क्यों नहीं ||

अन्य मनमोहक भजन-


8. ऐसी सुबह ना आए आए ना ऐसी शाम  | Satsang Bhajan lyrics

ऐसी सुबह ना आए आए ना ऐसी शाम लिरिक्स, Aisi Subah Na Aaye Lyrics
Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

यहाँ – ऐसी सुबह ना आए आए ना ऐसी शाम लिरिक्स, Aisi Subah Na Aaye Lyrics दिया गया है-

भजन -​​ ऐसी सुबह ना आए आए ना ऐसी शाम लिरिक्स

दोहा – शिव है शक्ति,
शिव है भक्ति,
शिव है मुक्ति धाम,
शिव है ब्रह्मा,
शिव है विष्णु,
शिव है मेरा राम ||

ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी शाम,
जिस दिन जुबाँ पे मेरी,
आए ना शिव का नाम ||

ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय।

मन मंदिर में वास है तेरा,
तेरी छवि बसाई,
प्यासी आत्मा बनके जोगन,
तेरी शरण में आई,
तेरे ही चरणों में पाया,
मैंने ये विश्राम,
ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी शाम ||

तेरी खोज में न जाने,
कितने युग मेरे बीते,
अंत में काम क्रोध मद हारे,
हे भोले तुम जीते,
मुक्त किया तूने प्रभु मुझको,
शत शत है प्रणाम,
ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी शाम ||

सर्व कला संम्पन तुम्ही हो,
हे मेरे परमेश्वर,
दर्शन देकर धन्य करो अब,
हे त्रिनेत्र महेश्वर,
भव सागर से तर जाउंगा,
लेकर तेरा नाम,
ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी शाम ||

ऐसी सुबह ना आए आए ना ऐसी शाम,
जिस दिन जुबाँ पे मेरी,
आए ना शिव का नाम ||

अन्य मनमोहक भजन-


9. ​​दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी | Satsang Bhajan lyrics

Darashan Do Ghanshyam Lyrics, दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी लिरिक्स
Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

यहाँ – ​​दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी लिरिक्स, Darashan Do Ghanshyam Nath Mori Barsao Lyrics दिया गया है-

भजन -​​ दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी लिरिक्स

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी लिरिक्स, Darashan Do Ghanshyam Nath Mori Lyrics in Hindi

दर्शन दो घनश्याम नाथ मोरी, अँखियाँ प्यासी रे,
मन मंदिर की जोत जगा दो, घाट घाट वासी रे,
दर्शन दो घनश्याम ||

मंदिर मंदिर मूरत तेरी, फिर भी न दीखे सूरत तेरी,
युग बीते ना आई मिलन की पूरनमासी रे,
दर्शन दो घनश्याम ||

द्वार दया का जब तू खोले, पंचम सुर में गूँगा बोले,
अंधा देखे लंगड़ा चल कर पँहुचे काशी रे,
दर्शन दो घनश्याम ||

पानी पी कर प्यास बुझाऊँ, नैनन को कैसे समजाऊँ,
आँख मिचौली छोड़ो अब तो मन के वासी रे,
दर्शन दो घनश्याम ||

निबर्ल के बल धन निधर्न के, तुम रखवाले भक्त जनों के,
तेरे भजन में सब सुख़ पाऊँ, मिटे उदासी रे,

नाम जपे पर तुझे ना जाने, उनको भी तू अपना माने,
तेरी दया का अंत नहीं है, हे दुःख नाशी रे,
दर्शन दो घनश्याम ||

आज फैसला तेरे द्वार पर, मेरी जीत है तेरी हार पर,
हर जीत है तेरी मैं तो, चरण उपासी रे,
दर्शन दो घनश्याम ||

द्वार खडा कब से मतवाला, मांगे तुम से हार तुम्हारी,
नरसी की ये बिनती सुनलो, भक्त विलासी रे,
दर्शन दो घनश्याम ||

लाज ना लुट जाए प्रभु तेरी, नाथ करो ना दया में देरी,
तिन लोक छोड़ कर आओ, गंगा निवासी रे,

अन्य मनमोहक भजन-


10. दूर नगरी बड़ी दूर नगरी लिरिक्स | Satsang Bhajan lyrics

Main To Tum Sang Lyrics
Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी

यहाँ – दूर नगरी बड़ी दूर नगरी लिरिक्स, Door Nagri Badi Door Nagri Lyrics ( Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी) दिया गया है-

भजन -​​ दूर नगरी बड़ी दूर नगरी लिरिक्स
स्वर – कृष्ण मृदुल शास्त्री जी

दूर नगरी, बड़ी दूर नगरी,
दूर नगरी, बड़ी दूर नगरी |
कैसे आऊं मैं कन्हाई,
तेरी गोकुल नगरी,
बड़ी दूर नगरी,
दूर नगरी,
बड़ी दूर नगरी ||

रात में आऊं कान्हा,
डर मोहे लागे,
दिन को आऊं तो देखे,
सारी नगरी,
दूर नगरी,
बड़ी दूर नगरी ||

सखी संग आऊं कान्हा,
लाज मोहे लागे,
अकेली आऊं तो भूल,
जाऊं डगरी,
दूर नगरी,
बड़ी दूर नगरी ||

धीरे चलूँ तो कान्हा,
कमर मोरी लचके,
जल्दी चलूँ तो,
छलकाए गगरी,
दूर नगरी,
बड़ी दूर नगरी ||

मीरा के प्रभु,
गिरधर नागर,
तुम्हरे दरश बिन,
मैं तो हो गई बावरी,
दूर नगरी,
बड़ी दूर नगरी ||

दूर नगरी,
बड़ी दूर नगरी,
कैसे आऊं मैं कन्हाई,
तेरी गोकुल नगरी,
बड़ी दूर नगरी,
दूर नगरी,
बड़ी दूर नगरी ||

अन्य मनमोहक भजन-


Satsang Bhajan lyrics, सत्संग के 1000 से भी ज्यादा भजन लिरिक्स के लिए आप नीचे लिंक पर क्लिक करें जो की समय पर अपडेट होते रहेंगे –

100+ सत्संग भजन लिरिक्स

आशा करता हूँ की यह Satsang Bhajan lyrics, सत्संग भजन लिरिक्स इन हिंदी जरुर पसंद आया होगा अगर आपको यह पसंद आया हो तो –


छोटे रसोई उपकरणों, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, जैसे मिक्सर ब्लेंडर, कूकर, ओवन, फ्रिज, लैपटॉप, मोबाइल फोन और टेलीविजन आदि सटीक तुलनात्मक विश्लेषण के लिए उचित कीमत आदि जानने के लिए क्लिक करें – TrustWelly.com

पवन शास्त्री ( सुर सरिता भजन )


Share: