Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

इस पोस्ट में आपको गंगा मैया के बहुत ही प्रिय व सुपरहिट Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स दिया जा रहा है |

Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics In Hindi | गंगा मैया भजन लिरिक्स

Shiv Chalisa Lyrics: शिव चालीसा अर्थ सहित | No.1 Best Shri Shiv Chalisa Lyrics
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

गंगा की हर मौज में मैंने गंगा मैया भजन लिरिक्स

गंगा की हर मौज में मैंने,
शिव की मूरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

गंगा की हर मौज में मैंने,
शिव की मूरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

कभी दिखेवे चढ़े बैल पर,
कभी समाधी रूप दिखे |
कभी वो गिरजा संग विराजे,
कभी नाग संग खेल रहे ||

उनके चरण सरोज से लिपटी,
सारी कुदरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

ज्योतिर्लिंग के रूप में उनके,
हुए हैं पावन दर्शन भी |
लंकापति लंकेश को देखा,
करते उनका चिंतन भी ||

तीन लोक के उसके खजाने,
उसकी दौलत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

गंगा की हर मौज में मैंने,
शिव की मूरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय

 


मेरी नैया में लक्ष्मण राम ओ गंगा मैया धीरे बहो

Meri Naiya Me Laxman Ram Lyrics
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ – मेरी नैया में लक्ष्मण राम ओ गंगा मैया धीरे बहो, Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स दिया गया है- भजन -​​

मेरी नैया में लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो,
धीरे बहो गंगा धीरे बहो,
नैया में लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो…


लहरों में उठे हिलोर गंगा मैया धीरे बहो,
कौन की है गंगा कौन की है नैया,
कौन के है लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो,
मेरी नैया में लक्ष्मण राम…

भागीरथ की गंगा केवट की है नैया,
दशरथ के लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो,
धीरे बहो गंगा धीरे बहो,
मेरी नैया में लक्ष्मण राम…

काहे आई गंगा काहे आई नैया,
काहे आये लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो,
धीरे बहो गंगा धीरे बहो,
मेरी नैया में लक्ष्मण राम…

पाप हरे गंगा पार करे नैया,
भक्तनहित लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो,
मेरी नैया में लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो…

मेरी नैया में लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो,
धीरे बहो गंगा धीरे बहो,
नैया में लक्ष्मण राम गंगा मैया धीरे बहो…


मानो तो मैं गंगा माँ हूँ गंगा मैया भजन लिरिक्स

Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ मानो तो मैं गंगा माँ हूँ लिरिक्स, Mano To Main Ganga Ma Hu Lyrics दिया गया है-

मानो तो मैं गंगा माँ हूँ
ना मानो तो बहता पानी
मानो तो मैं गंगा माँ हूँ
ना मानो तो बहता पानी

जो स्वर्ग ने दी धरती को
जो स्वर्ग ने दी धरती को
मैं हूँ प्यार की वही निशानी
मानो तो मै गंगा माँ हूँ
ना मानो तो बहता पानी।।

आ आ…

युग युग से मैं बहती आई
नील गगन के नीचे
सदियों से ये मेरी धारा
प्यार की धरती सींचे
मेरी लहर लहर पे लिखी है
मेरी लहर लहर पे लिखी है
इस देश की अमर कहानी
मानो तो मै गंगा माँ हूँ
ना मानो तो बहता पानी ।।

हरी ॐ हरी ॐ ।।
हरी ॐ हरी ॐ ।।
हरी ॐ हरी ॐ ।।

कोई वजब करे मेरे जल से
कोई वजब करे मेरे जल से
कोई मूरत को नहलाए
कही मोची चमड़े धोए
कही पंडित प्यास बुझाए
ये जात धरम के झगड़े ओ
ये जात धरम के झगड़े
इंसान की है नादानी
मानो तो मैं गंगा मा हूँ
ना मानो तो बहता पानी।।

हर हर गंगे हर हर गंगे ।।
हर हर गंगे ।।
आ आ…
आ आ…

गौतम अशोक अकबर ने
यहाँ प्यार के फूल खिलाए
तुलसी ग़ालिब मीरा ने
यहा ज्ञान के दिप जलाए
मेरे तट पे आज भी गूँजे
मेरे तट पे आज भी गूँजे
नानक कबीर की वाणी
मानो तो मैं गंगा मा हूँ
ना मानो तो बहता पानी।।

मानो तो मैं गंगा माँ हूँ
ना मानो तो बहता पानी
ना मानो तो बहता पानी
ना मानो तो बहता पानी।।

 


गंगा मैया आरती, ॐ जय गंगे माता गंगा मैया भजन लिरिक्स

Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ Ganga Aarti Lyrics, गंगा मैया आरती, ॐ जय गंगे माता लिरिक्स दिया गया है-

ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता ।
जो नर तुमको ध्याता, मन वांशित फल पाता ॥
ॐ जय गंगे माता…

चन्द्र सी ज्योत तुम्हारी, जल निर्मल आता ।
शरण पड़े जो तेरी, सो नर तर जाता ॥
ॐ जय गंगे माता…

पुत्र सगर के तारे, सब जग को ज्ञाता ।
कृपा दृष्टि हो तुम्हारी, त्रिभुवन सुखदाता ॥
ॐ जय गंगे माता…

एक बार ही जो तेरी, शरणागति आता ।
यम की त्रास मिटाकर, परम गति पाता ॥
ॐ जय गंगे माता…

आरती मात तुम्हारी, जो जान नित्त जाता ।
दास वाही सहज में, मुक्ति को पाता ॥
ॐ जय गंगे माता…

ॐ जय गंगे माता, श्री गंगे माता ।
जो नर तुमको ध्याता, मन वांशित फल पाता ॥
ॐ जय गंगे माता…

 


देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे लिरिक्स

Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

गंगा स्तोत्रम पवित्र नदी गंगा को समर्पित एक स्तोत्र है। यहाँ Ganga Stotram Lyrics, देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे लिरिक्स दिया गया है –

देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे,
त्रिभुवनतारिणि तरलतरंगे,
शंकरमौलिविहारिणि विमले,
मम मतिरास्तां तव पदकमले,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

भागीरथिसुखदायिनि मातस्तव,
जलमहिमा निगमे ख्यातः,
नाहं जाने तव महिमानं,
पाहि कृपामयि मामज्ञानम्,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

हरिपदपाद्यतरंगिणि गंगे,
हिमविधुमुक्ताधवलतरंगे,
दूरीकुरु मम दुष्कृतिभारं,
कुरु कृपया भवसागरपारम्,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

तव जलममलं येन निपीतं,
परमपदं खलु तेन गृहीतम्,
मातर्गंगे त्वयि यो भक्तः,
किल तं द्रष्टुं न यमः शक्तः,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

पतितोद्धारिणि जाह्नवि गंगे,
खंडित गिरिवरमंडित भंगे,
भीष्मजननि हे मुनिवरकन्ये,
पतितनिवारिणि त्रिभुवन धन्ये,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

कल्पलतामिव फलदां लोके,
प्रणमति यस्त्वां न पतति शोके,
पारावारविहारिणि गंगे,
विमुखयुवति कृततरलापांगे,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

तव चेन्मातः स्रोतः स्नातः,
पुनरपि जठरे सोपि न जातः,
नरकनिवारिणि जाह्नवि गंगे,
कलुषविनाशिनि महिमोत्तुंगे,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

पुनरसदंगे पुण्यतरंगे जय जय,
जाह्नवि करुणापांगे,
इंद्रमुकुटमणिराजितचरणे,
सुखदे शुभदे भृत्यशरण्ये,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

रोगं शोकं तापं पापं हर मे,
भगवति कुमतिकलापम्,
त्रिभुवनसारे वसुधाहारे त्वमसि,
गतिर्मम खलु संसारे,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

अलकानंदे परमानंदे कुरु,
करुणामयि कातरवंद्ये,
तव तटनिकटे यस्य निवासः,
खलु वैकुंठे तस्य निवासः,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

वरमिह नीरे कमठो मीनः,
किं वा तीरे शरटः क्षीणः,
अथवाश्वपचो मलिनो दीनस्तव,
न हि दूरे नृपतिकुलीनः,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

भो भुवनेश्वरि पुण्ये धन्ये,
देवि द्रवमयि मुनिवरकन्ये,
गंगास्तवमिमममलं नित्यं,
पठति नरो यः स जयति सत्यम्,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

येषां हृदये गंगा भक्तिस्तेषां,
भवति सदा सुखमुक्तिः,
मधुराकंता पंझटिकाभिः,
परमानंदकलितललिताभिः,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

गंगास्तोत्रमिदं भवसारं,
वांछितफलदं विमलं सारम्,
शंकरसेवक शंकर रचितं,
पठति सुखीः तव इति च समाप्तः,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे,
त्रिभुवनतारिणि तरलतरंगे,
शंकरमौलिविहारिणि विमले,
मम मतिरास्तां तव पदकमले,
देवि सुरेश्वरि भगवति गंगे।।

 


गंगा मैया में जब तक ये पानी रहे

Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ – गंगा मैया में जब तक ये पानी रहे लिरिक्स, Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स दिया गया है-

मैया ओह गंगा मैया, मैया ओह गंगा मैया,
गंगा मैया मे जब तक यह पानी रहे,
मेरे सजना तेरी ज़िंदगानी रहे, ज़िंदगानी रहे,

मेरे जीवन के और खेवैीया तेरे हांतो मेी है मेरी नैया,
दुनिया कुच्छ भी कहे भले कहती रहे,
मेरी पूजा तेरी ही दीवानी रहे, दीवानी रहे,
मैया ओह गंगा मैया, मैया ओह गंगा मैया,
गंगा मैया मेी जब तक यह पानी रहे,
मेरे सजना तेरी ज़िंदगानी रहे, ज़िंदगानी रहे,

आगी अँगने के फेरे लगाकर याद बीते दीनो की जलाकर
आई मई तेरे द्वार लिए मॅन मेी संसार
मेरे होंठो पे तेरी कहानी रहे, कहानी रहे,
मैया ओह गंगा मैया, मैया ओह गंगा मैया ॥
गंगा मैया मेी जब तक यह पानी रहे,
मेरे सजना तेरी ज़िंदगानी रहे, ज़िंदगानी रहे,

छुपे नारी के मॅन मेी वो सीता, जिसका जीवन अंगरो पे बिता,
मेरा जीवन तेरा तेरी रतती हू नाम,
मेरे माथे पे तेरी निशानी रहे, निशानी रहे,
मैया ओह गंगा मैया, मैया ओह गंगा मैया ॥
गंगा मैया मेी जब तक यह पानी रहे,
मेरे सजना तेरी ज़िंदगानी रहे, ज़िंदगानी रहे,

गंगा मैया मेी जब तक यह पानी रहे,
मेरे सजना तेरी ज़िंदगानी रहे, ज़िंदगानी रहे,
गंगा मैया मेी जब तक यह पानी रहे,
मेरे सजना तेरी ज़िंदगानी रहे, ज़िंदगानी रहे,
मैया ओह गंगा मैया, मैया ओह गंगा मैया ॥


गंगा तेरा पानी अमृत गंगा मैया भजन लिरिक्स

Ganga Tera Paani Amrit Lyrics
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ – गंगा तेरा पानी अमृत लिरिक्स, Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स दिया गया है-

गंगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए ||

दूर हिमालय से तू आई,
गीत सुहाने गाती,
बस्ती बस्ती जंगल जंगल,
सुख संदेश सुनाती,
तेरी चांदी जैसी धारा,
मीलों तक लहराए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत ||

कितने सूरज उभरे डूबे,
गंगा तेरे द्वारे,
युगों युगों की कथा सुनाएं,
तेरे बहते धारे,
तुझको छोड़ के भारत का,
इतिहास लिखा ना जाए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत ||

इस धरती का दुख सुख तूने,
अपने बीच समोया,
जब जब देश ग़ुलाम हुआ है,
तेरा पानी रोया,
जब जब हम आजाद हुए है,
तेरे तट मुस्काए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत ||

खेतों खेतों तुझसे जागी,
धरती पर हरियाली,
फसलें तेरा राग अलापे,
झूमे बाली बाली,
तेरा पानी पी कर मिट्टी,
सोने में ढल जाए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत ||

तेरे दान की दौलत ऊंचे,
खलियानो में ढलती,
खुशियों के मेले लगते,
मेहनत की डाली फलती,
लहक लहककर धूम मचाते,
तेरी गोदी के जाए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत ||

 

गूंज रही है तेरे तट पर,
नवजीवन की सरगम,
तू नदियों का संगम करती,
हम खेतों का संगम,
यही वो संगम है जो दिल का,
दिल से मेल कराए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत ||

हर हर गंगे कह के दुनिया,
तेरे आगे झुकती,
तुझी से हम सब जीवन पाएं,
तुझी से पाएं मुक्ति,
तेरी शरण मिले तो मैया,
जनम सफल जो जाए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत ||

गंगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए,
युग युग से इस देश की धरती,
तुझसे जीवन पाए,
गँगा तेरा पानी अमृत,
झर झर बहता जाए ||

 


जाग जाग मेरी गंगा माई लिरिक्स

Jag Jag Meri Ganga Mai Lyrics
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ – जाग जाग मेरी गंगा माई लिरिक्स, Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स दिया गया है-

दुनिया दर्शन आयी जी,
दुनिया दर्शन आयी जी,
जाग जाग मेरी गंगा माई,
जाग जाग मेरी गंगा माईं,
दुनिया दर्शन आयी जी,
जाग जाग मेरी गंगा माईं……

राम जागे लक्ष्मण जी जागे,
ओ जागी सीता माई जी,
जागी सीता माई जी,
हाक देत हनुमंत जागे,
हाक देत हनुमंत जागे,
जागे चारो भाई जी,
जाग जाग मेरी गंगा माईं……

ब्रम्हा जागे विष्णु जागे,
ओ जागे शंकर देवा जी,
जागे शंकर देवा जी,
बडे बडे जोगी सब जागे,
बडे बडे सब जोगी जागे,
सूरत भजन मे लागी जी,
जाग जाग मेरी गंगा माईं…….

ध्रुव जागे प्रहलाद भी जागे,
ओ जागे सज्जन कसाई जी,
जागे सज्जन कसाई जी,
अरे सुआ पढावत कनिका जागी,
सुआ पढावत कनिका जागी,
जागी मीरा बाई जी,
जाग जाग मेरी गंगा माईं……

ब्रम्ह कमंडल सु गंगा निकली,
हरि की पेढी आयी जी,
हरि की पेढी आयी जी,
दोय कर जोड भगीरथ बोले,
दोय कर जोड भगीरथ बोले,
धिन धिन गंगा माई जी,
जाग जाग मेरी गंगा माईं……

दुनिया दर्शन आयी जी,
दुनिया दर्शन आयी जी,
जाग जाग मेरी गंगा माई,
जाग जाग मेरी गंगा माईं,
दुनिया दर्शन आयी जी,
जाग जाग मेरी गंगा माईं….


भोले तेरी जटा से बहती है गंग धारा लिरिक्स

Bhole Teri Jata Se Lyrics
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ – भोले तेरी जटा से बहती है गंग धारा लिरिक्स, Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स दिया गया है-

भोले तेरी जटा में बहती है गंग धारा
शंकर तेरी जटा में बहती है गंग धारा
काली घटा के अन्दर जिव दामिनी उजाला
शंकर तेरी जटा में बहती है गंग धारा

गले मुंड मल साजे शशि भाल में विराजे
डमरू निनाद बाजे कर में त्रिशूल धारा
भोले तेरी जटा में बहती है गंग धारा

त्रगतिन तेग राशी कटी बंध नाग फासी
गिरिजा है संग दासी कैलाश के निवासी
भोले तेरी जटा में बहती है गंग धारा

शिव नाम जो उच्चारे सब पाप दोष टाले
भक्तो के कष्ट हारी भव सिन्धु पार तारे
भोले तेरी जटा में बहती है गंग धारा


राम तेरी गंगा मैली हो गईं लिरिक्स

Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स
Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स

यहाँ – राम तेरी गंगा मैली हो गईं लिरिक्स, Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स दिया गया है-

सुनो तो गंगा ये क्या सुनाए
के मेरे तटपर वो लोग आए
जिन्होंने ऐसे नियम बनाए
के प्राण जाए पर वचन न जाए
गंगा हमारी
गंगा हमारी कहे बात ये रोते रोते

राम तेरी गंगा मैली हो गयी
पापियों के पाप धोते-धोते
राम तेरी गंगा मैली हो गयी
पापियों के पाप धोते-धोते


हम उस देश के वासी हैं
जिस देश मे गंगा बेहति हो
ऋषियों के संग रहने वाली
पतितों के संग रहती

ना तो होठों पे सच्चाई, नही दिल मे सफ़ाई
करके गंगा को खराब, देते गंगा की दुहाई
ना तो होठों पे सच्चाई, नही दिल मे सफ़ाई
करके गंगा को खराब, देते गंगा की दुहाई
करे क्या बिचारी
करे क्या बिचारी इसे अपने ही लोग डुबोते

राम तेरी गंगा मैली हो गयी
पापियों के पाप धोते-धोते
राम तेरी गंगा मैली हो गयी
पापियों के पाप धोते-धोते

वही है धरती, वही है गंगा
बदले है गंगा वाले
सबके हाथ लहू से रंगे हैं
मुख उजले मन काले

दिये वचन भुलाके, झूठी सौगंध खाके
अपनी आत्मा गिराके, चलें सर को उठाके
दिये वचन भुलाके, झूठी सौगंध खाके
अपनी आत्मा गिराके, चलें सर को उठाके
अब तो ये पापी
अब तो ये पापी गंगा जल से भी शुद्ध न होते

राम तेरी गंगा मैली हो गई
पापियों के पाप धोते-धोते
राम तेरी गंगा मैली हो गयी
पापियों के पाप धोते-धोते

गंगा हमारी कहे बात ये रोते-रोते
गंगा हमारी कहे बात ये रोते-रोते
राम तेरी गंगा मैली हो गयी
पापियों के पाप धोते-धोते
राम तेरी गंगा मैली हो गयी
पापियों के पाप धोते-धोते


Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स जरुर पसंद आया होगा अगर आपको यह Top 10 Ganga Maiya Bhajan Lyrics, गंगा मैया भजन लिरिक्स पसंद आया हो तो –

बॉलीवुड सोंग नोटेशन, सुपरहिट भजनों नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं और म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु से जुडी जानकारी पाने के लिए follow बटन पर क्लिक करके “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर follow करें |


छोटे रसोई उपकरणों, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, जैसे मिक्सर ब्लेंडर, कूकर, ओवन, फ्रिज, लैपटॉप, मोबाइल फोन और टेलीविजन आदि सटीक तुलनात्मक विश्लेषण के लिए उचित कीमत आदि जानने के लिए क्लिक करें – TrustWelly.com

Thank you

Share: