Shri Shani Chalisa Lyrics श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

इसमें आपको Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स का हिंदी और English Lyrics भी दिया जा रहा है और उम्मीद करता हूँ कि Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स आपके लिए जरूर helpful साबित होगा |

Shri Shani Chalisa Lyrics In Hindi | श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

Shri Shani Chalisa Lyrics श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स
Shri Shani Chalisa Lyrics श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

यहाँ Shani chalisa lyrics in hindi, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स दिया गया है –

श्री शनि चालीसा, Shri Shani Dev Chalisa Hindi

॥दोहा॥
जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल।
दीनन के दुःख दूर करि, कीजै नाथ निहाल॥
जय जय श्री शनिदेव प्रभु, सुनहु विनय महाराज।
करहु कृपा हे रवि तनय, राखहु जन की लाज॥

॥चौपाई॥
जयति जयति शनिदेव दयाला। करत सदा भक्तन प्रतिपाला॥
चारि भुजा, तनु श्याम विराजै। माथे रतन मुकुट छवि छाजै॥
परम विशाल मनोहर भाला। टेढ़ी दृष्टि भृकुटि विकराला॥
कुण्डल श्रवण चमाचम चमके। हिये माल मुक्तन मणि दमके॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

कर में गदा त्रिशूल कुठारा। पल बिच करैं अरिहिं संहारा॥
पिंगल, कृष्णों, छाया, नन्दन। यम, कोणस्थ, रौद्र, दुःख भंजन॥
सौरी, मन्द, शनि, दशनामा। भानु पुत्र पूजहिं सब कामा॥
जा पर प्रभु प्रसन्न है जाहीं। रंकहुं राव करैं क्षण माहीं॥
पर्वतहू तृण होई निहारत। तृणहू को पर्वत करि डारत॥
राज मिलत वन रामहिं दीन्हो। कैकेइहुं की मति हरि लीन्हो॥
बनहूं में मृग कपट दिखाई। मातु जानकी गई चतुराई॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

लखनहिं शक्ति विकल करिडारा। मचिगा दल में हाहाकारा॥
रावण की गति मति बौराई। रामचन्द्र सों बैर बढ़ाई॥
दियो कीट करि कंचन लंका। बजि बजरंग बीर की डंका॥
नृप विक्रम पर तुहि पगु धारा। चित्र मयूर निगलि गै हारा॥
हार नौलाखा लाग्यो चोरी। हाथ पैर डरवायो तोरी॥
भारी दशा निकृष्ट दिखायो। तेलिहिं घर कोल्हू चलवायो॥
विनय राग दीपक महँ कीन्हों। तब प्रसन्न प्रभु हवै सुख दीन्हों॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

हरिश्चन्द्र नृप नारि बिकानी। आपहुं भरे डोम घर पानी॥
तैसे नल पर दशा सिरानी। भूंजी-मीन कूद गई पानी॥
श्री शंकरहि गहयो जब जाई। पार्वती को सती कराई॥
तनिक विलोकत ही करि रीसा। नभ उड़ि गयो गौरिसुत सीसा॥
पाण्डव पर भै दशा तुम्हारी। बची द्रोपदी होति उधारी॥
कौरव के भी गति मति मारयो। युद्ध महाभारत करि डारयो॥
रवि कहं मुख महं धरि तत्काला। लेकर कूदि परयो पाताला॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

शेष देव-लखि विनती लाई। रवि को मुख ते दियो छुड़ई॥
वाहन प्रभु के सात सुजाना। जग दिग्ज गर्दभ मृग स्वाना॥
जम्बुक सिंह आदि नख धारी। सो फल ज्योतिष कहत पुकारी॥
गज वाहन लक्ष्मी गृह आवैं। हय ते सुख सम्पत्ति उपजावै॥
गर्दभ हानि करै बहु काजा। गर्दभ सिंद्धकर राज समाजा॥

जम्बुक बुद्धि नष्ट कर डारै। मृग दे कष्ट प्राण संहारै॥
जब आवहिं प्रभु स्वान सवारी। चोरी आदि होय डर भारी॥
तैसहि चारि चरण यह नामा। स्वर्ण लौह चाँजी अरु तामा॥
लौह चरण पर जब प्रभु आवैं। धन जन सम्पत्ति नष्ट करावै॥
समता ताम्र रजत शुभकारी। स्वर्ण सर्वसुख मंगल कारी॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

जो यह शनि चरित्र नित गावै। कबहुं न दशा निकृष्ट सतावै॥
अदभुत नाथ दिखावैं लीला। करैं शत्रु के नशि बलि ढीला॥
जो पण्डित सुयोग्य बुलवाई। विधिवत शनि ग्रह शांति कराई॥
पीपल जल शनि दिवस चढ़ावत। दीप दान दै बहु सुख पावत॥
कहत राम सुन्दर प्रभु दासा। शनि सुमिरत सुख होत प्रकाशा॥

॥दोहा॥
पाठ शनिश्चर देव को, की हों विमल तैयार।
करत पाठ चालीस दिन, हो भवसागर पार॥

इसे भी पढ़ें:-

शनि देव चालीसा लिरिक्स, Shani chalisa lyrics Video


Shri Shani Chalisa lyrics in English

In this article, you are also being given the Hindi and English lyrics of Shani chalisa lyrics in English, Shri Raghuveer Bhakt Hitkari and I hope that Shani chalisa lyrics In English.

Here you can read Shani chalisa lyrics in English –

॥ Shani Chalisa Lyrics ॥

॥dohaa॥
jay gaṇaesh girijaa suvan, mngal karaṇa kripaal. Deenan ke duahkh door kari, keejai naath nihaal॥
jay jay shree shanidev prabhu, sunahu vinay mahaaraaj. Karahu kripaa he ravi tanay, raakhahu jan kee laaj॥

॥chaupaa_ii॥
jayati jayati shanidev dayaalaa. Karat sadaa bhaktan pratipaalaa॥
chaari bhujaa, tanu shyaam viraajai. Maathe ratan mukuṭ chhavi chhaajai॥
param vishaal manohar bhaalaa. ṭeḍhee driṣṭi bhrikuṭi vikaraalaa॥
kuṇaḍaal shravaṇa chamaacham chamake. Hiye maal muktan maṇai damake॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

kar men gadaa trishool kuṭhaaraa. Pal bich karain arihin snhaaraa॥
pingal, kriṣṇaon, chhaayaa, nandan. Yam, koṇaasth, raudr, duahkh bhnjan॥
sauree, mand, shani, dashanaamaa. Bhaanu putr poojahin sab kaamaa॥
jaa par prabhu prasann hai jaaheen. Rnkahun raav karain kṣaṇa maaheen॥
parvatahoo triṇa hoii nihaarat. Triṇaahoo ko parvat kari ḍaarat॥
raaj milat van raamahin deenho. Kaikeihun kee mati hari leenho॥
banahoon men mrig kapaṭ dikhaa_ii. Maatu jaanakee ga_ii chaturaa_ii॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

lakhanahin shakti vikal kariḍaaraa. Machigaa dal men haahaakaaraa॥
raavaṇa kee gati mati bauraa_ii. Raamachandr son bair baḍhaa_ii॥
diyo keeṭ kari knchan lnkaa. Baji bajarng beer kee ḍankaa॥
nrip vikram par tuhi pagu dhaaraa. Chitr mayoor nigali gai haaraa॥
haar naulaakhaa laagyo choree. Haath pair ḍaaravaayo toree॥
bhaaree dashaa nikriṣṭ dikhaayo. Telihin ghar kolhoo chalavaayo॥
vinay raag deepak mahn keenhon. Tab prasann prabhu havai sukh deenhon॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

harishchandr nrip naari bikaanee. Aapahun bhare ḍaom ghar paanee॥
taise nal par dashaa siraanee. Bhoonjee-meen kood ga_ii paanee॥
shree shnkarahi gahayo jab jaa_ii. Paarvatee ko satee karaa_ii॥
tanik vilokat hee kari reesaa. Nabh udi gayo gaurisut seesaa॥
paaṇaḍaav par bhai dashaa tumhaaree. Bachee dropadee hoti udhaaree॥
kaurav ke bhee gati mati maarayo. Yuddh mahaabhaarat kari ḍaarayo॥
ravi kahn mukh mahn dhari tatkaalaa. Lekar koodi parayo paataalaa॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

sheṣ dev-lakhi vinatee laa_ii. Ravi ko mukh te diyo chhuda_ii॥
vaahan prabhu ke saat sujaanaa. Jag digj gardabh mrig svaanaa॥
jambuk sinh aadi nakh dhaaree. So fal jyotiṣ kahat pukaaree॥
gaj vaahan lakṣmee grih aavain. Hay te sukh sampatti upajaavai॥
gardabh haani karai bahu kaajaa. Gardabh sinddhakar raaj samaajaa॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

jambuk buddhi naṣṭ kar ḍaarai. Mrig de kaṣṭ praaṇa snhaarai॥
jab aavahin prabhu svaan savaaree. Choree aadi hoy ḍaar bhaaree॥
taisahi chaari charaṇa yah naamaa. Svarṇa lauh chaanjee aru taamaa॥
lauh charaṇa par jab prabhu aavain. Dhan jan sampatti naṣṭ karaavai॥
samataa taamr rajat shubhakaaree. Svarṇa sarvasukh mngal kaaree॥

Shri Shani Chalisa Lyrics, श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

jo yah shani charitr nit gaavai. Kabahun n dashaa nikriṣṭ sataavai॥
adabhut naath dikhaavain leelaa. Karain shatru ke nashi bali ḍheelaa॥
jo paṇaḍait suyogy bulavaa_ii. Vidhivat shani grah shaanti karaa_ii॥
peepal jal shani divas chaḍhaavat. Deep daan dai bahu sukh paavat॥
kahat raam sundar prabhu daasaa. Shani sumirat sukh hot prakaashaa॥

॥dohaa॥
paaṭh shanishchar dev ko, kee hon vimal taiyaar. Karat paaṭh chaalees din, ho bhavasaagar paar॥

Shri Shani Chalisa Lyrics श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स
Shri Shani Chalisa Lyrics श्री शनि देव चालीसा लिरिक्स

Benefits of Shani Chalisa – शनि चालीसा पाठ करने के लाभ

क्या शनि चालीसा का पाठ स्त्रियाँ भी कर सकती है?

जी हाँ, शनि चालीसा का पाठ स्त्रियाँ भी कर सकती है.

शनि चालीसा को सही तरीके से किस प्रकार पढ़ा जाता है ?

शनि चालीसा कभी भी पढ़ी जा सकती है क्यूंकि भावना के साथ प्रभु को कभी भी याद किया जा सकता है परन्तु ऐसी मान्यता है कि शनिवार और मंगलवार को शाम के समय शनि मंदिर, हनुमान मंदिर या पीपल के पेड़ की छाया में आसन बिछाकर बैठ कर पढ़ना बहुत लाभकारी होता है।

Shani Chalisa (शनि चालीसा) पढ़ने से क्या लाभ होते हैं ?

शानि देव को प्रसन्न करने के लिए शनि चालीसा का पाठ किया जाता है। इसे करने से घर में सुख- समृद्धि आती है एवं सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं । साथ ही घर में धन की कमी नहीं होती है और शनि देव की विशेष कृपा बानी रहती है |

शनि चालीसा को सही तरीके से किस प्रकार पढ़ा जाता है ?

शनि चालीसा कभी भी पढ़ी जा सकती है क्यूंकि भावना के साथ प्रभु को कभी भी याद किया जा सकता है परन्तु ऐसी मान्यता है कि शनिवार और मंगलवार को शाम 5 बजे के बाद शनि मंदिर, हनुमान मंदिर या पीपल के पेड़ की छाया में आसन बिछाकर बैठ कर पढ़ना बहुत लाभकारी होता है।

शनि देव को तेल चढ़ाने के क्या फायदे हैं ?

शनिवार के दिन शनि देव का सरसों के तेल से अभिषेक करना और पूजा में सरसों का तेल अर्पित करना बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है | इससे शनि देव की साढ़ेसाती और ढैय्या से भक्तोओं को छुटकारा मिलता है और बिगड़ा काम पूरा होता है | घर तथा व्यवसाय में चल रहे सारे विकार दूर होते हैं तथा उन्नति होती है | शनि देव जी को तेल चढ़ाने से बंजरगबली की भी कृपा बनी रहती है |

आशा करता हूँ की यह Shri Shani chalisa lyrics, शनि चालीसा लिरिक्स जरुर पसंद आया होगा अगर आपको यह Shri Shani chalisa lyrics, शनि चालीसा लिरिक्स पसंद आया हो तो – “कमेन्ट जरूर करें |”

रागों की बंदिशों के हिंदी नोटेशन, फ़िल्मी गानों के हिंदी नोटेशन, सुपरहिट भजनों के हिंदी नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु, और टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी पाने के लिए   “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर F O L L O W करें |

और S U B S C R I B E करें मेरे y o u t u b e चैनल “sur sarita techknow-Youtube” “S U R  S A R I T A  T E C H K N O W” – You tube को |

P L E A S E   C O M M E N T और शेयर जरूर करें ||

धन्यवाद् पवन शास्त्री ( सुर सरिता भजन )

Share on:

Leave a Comment