Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली

इस Article में आपको हनुमान जी के 108 नाम, हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali का हिंदी और English LYRICS भी दिया है और उम्मीद करता हूँ कि यह हनुमान जी के 108 नाम, हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali आपके लिए जरूर helpful साबित होगा |

Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali In Hindi| हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली | हनुमान जी के 108 नाम

Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली
Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली

यहाँ – हनुमान जी के 108 नाम, हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali दिया गया है –

भजन/मन्त्र​​ – हनुमान जी के 108 नाम

भगवान हनुमान हिंदू धर्म में सबसे लोकप्रिय देवताओं में से एक हैं। भगवान राम के पूर्ण भक्त के रूप में हर घर में भगवान हनुमान की पूजा की जाती है। भगवान हनुमान को उस शक्ति और साहस के लिए भी पूजा जाता है जो वह अपने भक्तों को प्रदान करते हैं।

भक्त उनका आशीर्वाद लेने के लिए हनुमान मंत्र का जाप करते हैं। भगवान हनुमान के कुछ मंत्र बहुत लोकप्रिय हैं क्योंकि इन मंत्रों को अत्यधिक प्रभावी माना जाता है। हनुमान जी के 108 नाम, हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali

वीर बजरंगी की कृपा पाने के लिए मंगलवार के दिन विधि-विधान से पूजा-अर्चना करनी चाहिए। साथ ही पूजा के बाद कपूर जलाकर हनुमान जी की आरती करना बहुत ही शुभ माना जाता है। हनुमान जी की आरती करने से बजरंगबली का आशीर्वाद प्राप्त होता है और किसी भी भय बाधा से मुक्ति मिलती है। हनुमान जी के 108 नाम, हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali


हनुमान जी के 108 नाम

ॐ आञ्जनेयाय नमः | 01
ॐ महावीराय नमः | 02
ॐ हनूमते नमः | 03
ॐ मारुतात्मजाय नमः | 04
ॐ तत्वज्ञानप्रदाय नमः | 05
ॐ सीतादेविमुद्राप्रदायकाय नमः | 06
ॐ अशोकवनकाच्छेत्रे नमः | 07
ॐ सर्वमायाविभंजनाय नमः | 08
ॐ सर्वबन्धविमोक्त्रे नमः | 09
ॐ रक्षोविध्वंसकारकाय नमः | 10

ॐ परविद्या परिहाराय नमः | 11
ॐ परशौर्य विनाशनाय नमः | 12
ॐ परमन्त्र निराकर्त्रे नमः | 13
ॐ परयन्त्र प्रभेदकाय नमः | 14
ॐ सर्वग्रह विनाशिने नमः | 15
ॐ भीमसेन सहायकृथे नमः | 16
ॐ सर्वदुखः हराय नमः | 17
ॐ सर्वलोकचारिणे नमः | 18
ॐ मनोजवाय नमः | 19
ॐ पारिजात द्रुमूलस्थाय नमः | 20

ॐ सर्वमन्त्र स्वरूपवते नमः | 21
ॐ सर्वतन्त्र स्वरूपिणे नमः | 22
ॐ सर्वयन्त्रात्मकाय नमः | 23
ॐ कपीश्वराय नमः | 24
ॐ महाकायाय नमः | 25
ॐ सर्वरोगहराय नमः | 26
ॐ प्रभवे नमः | 27
ॐ बल सिद्धिकराय नमः | 28
ॐ सर्वविद्या सम्पत्तिप्रदायकाय नमः | 29
ॐ कपिसेनानायकाय नमः | 30

ॐ भविष्यथ्चतुराननाय नमः | 31
ॐ कुमार ब्रह्मचारिणे नमः | 32
ॐ रत्नकुण्डल दीप्तिमते नमः | 33
ॐ चञ्चलद्वाल सन्नद्धलम्बमान शिखोज्वलाय नमः | 34
ॐ गन्धर्व विद्यातत्वज्ञाय नमः | 35
ॐ महाबल पराक्रमाय नमः | 36
ॐ काराग्रह विमोक्त्रे नमः | 37
ॐ शृन्खला बन्धमोचकाय नमः | 38
ॐ सागरोत्तारकाय नमः | 39
ॐ प्राज्ञाय नमः | 40

ॐ रामदूताय नमः | 41
ॐ प्रतापवते नमः | 42
ॐ वानराय नमः | 43
ॐ केसरीसुताय नमः | 44
ॐ सीताशोक निवारकाय नमः | 45
ॐ अन्जनागर्भ सम्भूताय नमः | 46
ॐ बालार्कसद्रशाननाय नमः | 47
ॐ विभीषण प्रियकराय नमः | 48
ॐ दशग्रीव कुलान्तकाय नमः | 49
ॐ लक्ष्मणप्राणदात्रे नमः | 50

ॐ वज्रकायाय नमः | 51
ॐ महाद्युथये नमः | 52
ॐ चिरञ्जीविने नमः | 53
ॐ रामभक्ताय नमः | 54
ॐ दैत्यकार्य विघातकाय नमः | 55
ॐ अक्षहन्त्रे नमः | 56
ॐ काञ्चनाभाय नमः | 57
ॐ पञ्चवक्त्राय नमः | 58
ॐ महातपसे नमः | 59
ॐ लन्किनी भञ्जनाय नमः | 60

ॐ श्रीमते नमः | 61
ॐ सिंहिकाप्राण भञ्जनाय नमः | 62
ॐ गन्धमादन शैलस्थाय नमः | 63
ॐ लङ्कापुर विदायकाय नमः | 64
ॐ सुग्रीव सचिवाय नमः | 65
ॐ धीराय नमः | 66
ॐ शूराय नमः | 67
ॐ दैत्यकुलान्तकाय नमः | 68
ॐ सुरार्चिताय नमः | 69
ॐ महातेजसे नमः | 70

ॐ रामचूडामणिप्रदायकाय नमः | 71
ॐ कामरूपिणे नमः | 72
ॐ पिङ्गलाक्षाय नमः | 73
ॐ वार्धिमैनाक पूजिताय नमः | 74
ॐ कबळीकृत मार्ताण्डमण्डलाय नमः | 75
ॐ विजितेन्द्रियाय नमः | 76
ॐ रामसुग्रीव सन्धात्रे नमः | 77
ॐ महारावण मर्धनाय नमः | 78
ॐ स्फटिकाभाय नमः | 79
ॐ वागधीशाय नमः | 80

ॐ नवव्याकृतपण्डिताय नमः | 81
ॐ चतुर्बाहवे नमः | 82
ॐ दीनबन्धुराय नमः | 83
ॐ मायात्मने नमः | 84
ॐ भक्तवत्सलाय नमः | 85
ॐ संजीवननगायार्था नमः | 86
ॐ सुचये नमः | 87
ॐ वाग्मिने नमः | 88
ॐ दृढव्रताय नमः | 89
ॐ कालनेमि प्रमथनाय नमः | 90

ॐ हरिमर्कट मर्कटाय नमः | 91
ॐ दान्ताय नमः | 92
ॐ शान्ताय नमः | 93
ॐ प्रसन्नात्मने नमः | 94
ॐ शतकन्टमुदापहर्त्रे नमः | 95
ॐ योगिने नमः | 96
ॐ रामकथा लोलाय नमः | 97
ॐ सीतान्वेषण पण्डिताय नमः | 98
ॐ वज्रद्रनुष्टाय नमः | 99
ॐ वज्रनखाय नमः | 100

ॐ रुद्र वीर्य समुद्भवाय नमः | 101
ॐ इन्द्रजित्प्रहितामोघब्रह्मास्त्र विनिवारकाय नमः | 102
ॐ पार्थ ध्वजाग्रसंवासिने नमः | 103
ॐ शरपञ्जर भेदकाय नमः | 104
ॐ दशबाहवे नमः | 105
ॐ लोकपूज्याय नमः | 106
ॐ जाम्बवत्प्रीतिवर्धनाय नमः | 107
ॐ सीतासमेत श्रीरामपाद सेवदुरन्धराय नमः | 108

॥ इति श्रीहनुमानष्टोत्तरशतनामावलिः सम्पूर्णा ॥



Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali Video

Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली


Hanuman Mantraashtottara Shatanamavali In English | Hanuman Ji Ke 108 Naam (Mantraaṣṭottar Shatanaamaavali)

Hanuman ji ke 108 naam, Mantraaṣṭottar shatanaamaavali . Hanuman mantraashtottara shatanamavali in hindi

Bhajan/mantr​​a – Hanuman ji ke 108 naam

bhagavaan Hanuman hindoo dharm men sabase lokapriy devataa_on men se ek hain. Bhagavaan raam ke poorṇa bhakt ke roop men har ghar men bhagavaan Hanuman ki poojaa ki jaati hai. Bhagavaan Hanuman ko us shakti aur saahas ke lie bhi poojaa jaataa hai jo vah apane bhakton ko pradaan karate hain. Bhakt unakaa aashirvaad lene ke lie Hanuman Mantra kaa jaap karate hain. Bhagavaan Hanuman ke kuchh Mantra bahut lokapriy hain kyonki in Mantraon ko atyadhik prabhaavi maanaa jaataa hai. Hanumaan ji ke 108 naam, Mantraaṣṭottar shatanaamaavali, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali 

vir bajarngi ki kripaa paane ke lie mngalavaar ke din vidhi-vidhaan se poojaa-archanaa karani chaahie. Saath hi poojaa ke baad kapoor jalaakar Hanuman ji ki aarati karanaa bahut hi shubh maanaa jaataa hai. Hanumaan ji ki aarati karane se bajarngabali kaa aashirvaad praapt hotaa hai aur kisi bhi bhay baadhaa se mukti milati hai. Hanumaan ji ke 108 naam, Mantraaṣṭottar shatanaamaavali, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali


Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali

Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली
Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली

 

om aa~njaneyaay namah . 01
om mahaaviraay namah . 02
om hanoomate namah . 03
om maarutaatmajaay namah . 04
om tatvagyaanapradaay namah . 05
om sitaadevimudraapradaayakaay namah . 06
om ashokavanakaachchhetre namah . 07
om sarvamaayaavibhnjanaay namah . 08
om sarvabandhavimoktre namah . 09
om rakṣovidhvnsakaarakaay namah . 10

om paravidyaa parihaaraay namah . 11
om parashaury vinaashanaay namah . 12
om paramantr niraakartre namah . 13
om parayantr prabhedakaay namah . 14
om sarvagrah vinaashine namah . 15
om bhimasen sahaayakrithe namah . 16
om sarvadukhah haraay namah . 17
om sarvalokachaariṇae namah . 18
om manojavaay namah . 19
om paarijaat drumoolasthaay namah . 20

om sarvamantr svaroopavate namah . 21
om sarvatantr svaroopiṇae namah . 22
om sarvayantraatmakaay namah . 23
om kapishvaraay namah . 24
om mahaakaayaay namah . 25
om sarvarogaharaay namah . 26
om prabhave namah . 27
om bal siddhikaraay namah . 28
om sarvavidyaa sampattipradaayakaay namah . 29
om kapisenaanaayakaay namah . 30

om bhaviṣyathchaturaananaay namah . 31
om kumaar brahmachaariṇae namah . 32
om ratnakuṇaḍaal diptimate namah . 33
om cha~nchaladvaal sannaddhalambamaan shikhojvalaay namah . 34
om gandharv vidyaatatvagyaay namah . 35
om mahaabal paraakramaay namah . 36
om kaaraagrah vimoktre namah . 37
om shrinkhalaa bandhamochakaay namah . 38
om saagarottaarakaay namah . 39
om praagyaay namah . 40

om raamadootaay namah . 41
om prataapavate namah . 42
om vaanaraay namah . 43
om kesarisutaay namah . 44
om sitaashok nivaarakaay namah . 45
om anjanaagarbh sambhootaay namah . 46
om baalaarkasadrashaananaay namah . 47
om vibhiṣaṇa priyakaraay namah . 48
om dashagriv kulaantakaay namah . 49
om lakṣmaṇaapraaṇaadaatre namah . 50

om vajrakaayaay namah . 51
om mahaadyuthaye namah . 52
om chira~njivine namah . 53
om raamabhaktaay namah . 54
om daityakaary vighaatakaay namah . 55
om akṣahantre namah . 56
om kaa~nchanaabhaay namah . 57
om pa~nchavaktraay namah . 58
om mahaatapase namah . 59
om lankini bha~njanaay namah . 60

om shrimate namah . 61
om sinhikaapraaṇa bha~njanaay namah . 62
om gandhamaadan shailasthaay namah . 63
om la~nkaapur vidaayakaay namah . 64
om sugriv sachivaay namah . 65
om dhiraay namah . 66
om shooraay namah . 67
om daityakulaantakaay namah . 68
om suraarchitaay namah . 69
om mahaatejase namah . 70

om raamachooḍaamaṇaipradaayakaay namah . 71
om kaamaroopiṇae namah . 72
om pi~ngalaakṣaay namah . 73
om vaardhimainaak poojitaay namah . 74
om kabaḽikrit maartaaṇaḍaamaṇaḍaalaay namah . 75
om vijitendriyaay namah . 76
om raamasugriv sandhaatre namah . 77
om mahaaraavaṇa mardhanaay namah . 78
om sfaṭikaabhaay namah . 79
om vaagadhishaay namah . 80

om navavyaakritapaṇaḍaitaay namah . 81
om chaturbaahave namah . 82
om dinabandhuraay namah . 83
om maayaatmane namah . 84
om bhaktavatsalaay namah . 85
om snjivananagaayaarthaa namah . 86
om suchaye namah . 87
om vaagmine namah . 88
om driḍhavrataay namah . 89
om kaalanemi pramathanaay namah . 90

om harimarkaṭ markaṭaay namah . 91
om daantaay namah . 92
om shaantaay namah . 93
om prasannaatmane namah . 94
om shatakanṭamudaapahartre namah . 95
om yogine namah . 96
om raamakathaa lolaay namah . 97
om sitaanveṣaṇa paṇaḍaitaay namah . 98
om vajradranuṣṭaay namah . 99
om vajranakhaay namah . 100

om rudr viry samudbhavaay namah . 101
om indrajitprahitaamoghabrahmaastr vinivaarakaay namah . 102
om paarth dhvajaagrasnvaasine namah . 103
om sharapa~njar bhedakaay namah . 104
om dashabaahave namah . 105
om lokapoojyaay namah . 106
om jaambavatpritivardhanaay namah . 107
om sitaasamet shriraamapaad sevadurandharaay namah . 108

॥ iti shriHanumanaṣṭottarashatanaamaavaliah sampoorṇaa ॥


 

हनुमान जी का पावरफुल मंत्र कौन सा है?

‘ॐ हं हनुमते नम:। ‘

हनुमान जी का मूल मंत्र क्या है?

हनुमान जी का मूल मंत्र:- ओम ह्रां ह्रीं ह्रं ह्रैं ह्रौं ह्रः॥ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्। ओम हं हनुमंताय नम:. ओम नमो हनुमते रूद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा |

हनुमान जी कौन से मंत्र से खुश होते हैं?

हनुमान जी को प्रसन्न करने के मंत्र:-
ॐ हं हनुमते नम:। ‘ ”अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्। सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि॥” ‘ॐ अंजनिसुताय विद्महे वायुपुत्राय धीमहि तन्नो मारुति प्रचोदयात्।

हनुमान जी का गुरु मंत्र क्या है?

हनुमान गायत्री मंत्र -“ऊँ आञ्जनेयाय विद्महे, वायुपुत्राय धीमहि। तन्नो हनुमत् प्रचोदयात्।”

संकट में कौन सा मंत्र?

संकट दूर करने के लिए मंत्र:-
ॐ शान्ताय नम:। ॐ मारुतात्मजाय नमः। ऊं हं हनुमते नम:।

हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली जाप कब करना चाहिए?

हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली जाप कब करना चाहिए?
मंगलवार के दिन हनुमान चालीसा और बजरंगबाण का पाठ करना अति शुभ माना गया है। इसके साथ ही यदि आप हनुमान जी के 108 नामों का भी इस दिन सुबह या शाम की पूजा करते समय जाप करते हैं तो आपको शुभ फलों की प्राप्ति होती है और आपके तेज में वृद्धि होती है।

हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली जाप करने से क्या लाभ हैं?

हनुमान जी के 108 नाम का जाप करने से हनुमान जी का आशीर्वाद प्राप्त होता है | इन नामों का जाप पूरी श्रद्धा से करते है तो इससे आपको धन-धान्य की प्राप्ति होती है | हनुमान जी आपके सारे कष्टों को हर लेते हैं | यदि आपके मन में डर या कोई परेशानी है तो हनुमान जी के इन नामों का जाप जरूर करें तो आपको मन को शांति मिलेगी | इसका जाप करने से सारे बिगड़े काम बनेंगे और आपके जीवन में हमेशा सकारत्मकता बनी रहेगी |

हनुमान का मंत्र कौन सा है?

हनुमान जी का मूल मंत्र:- ओम ह्रां ह्रीं ह्रं ह्रैं ह्रौं ह्रः॥ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्। ओम हं हनुमंताय नम:. ओम नमो हनुमते रूद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा.

Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली
Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali – हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली

हनुमान जी के 108 नाम, हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali जरुर पसंद आया होगा अगर आपको यह हनुमान जी के 108 नाम, हनुमान मंत्रष्टोत्तर शतनामावली, Hanuman Mantra Ashtottara Shatanamavali पसंद आया हो तो –

कमेंट करके जरूर बताएं एवं आप अपनी रिकवेस्ट भी हमे कमेंट करके बता सकते है, उस भजन या गीत आदि को जल्द से जल्द लाने की हमारी कोशिश रहेगी |

रागों की बंदिशों के हिंदी नोटेशन, फ़िल्मी गानों के हिंदी नोटेशन, सुपरहिट भजनों के हिंदी नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु, और टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी पाने के लिए   “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर F O L L O W करें |

और S U B S C R I B E करें मेरे y o u t u b e चैनल “sur sarita techknow-Youtube” “S U R  S A R I T A  T E C H K N O W” – You tube को |

P L E A S E   C O M M E N T और शेयर जरूर करें ||

धन्यवाद्
पवन शास्त्री ( सुर सरिता भजन )

Thank you

Share on:

Leave a Comment