Baglamukhi Chalisa Lyrics बगलामुखी चालीसा, No.1 Best Baglamukhi Chalisa

इसमें आपको Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा – जय जय जय श्री बगला माता का हिंदी और English Lyrics भी दिया जा रहा है और उम्मीद करता हूँ कि Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा लिरिक्स – जय जय जय श्री बगला माता आपके लिए जरूर helpful साबित होगा |

Baglamukhi Chalisa Lyrics In Hindi | बगलामुखी चालीसा पाठ | जय जय जय श्री बगला माता

Baglamukhi Chalisa Lyrics बगलामुखी चालीसा, No.1 Best Baglamukhi Chalisa
Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा लिरिक्स

यहाँ Baglamukhi chalisa lyrics in hindi, बगलामुखी चालीसा लिरिक्स दिया गया है –

|| बगलामुखी चालीसा लिरिक्स ॥

॥ दोहा ॥
सिर नवाइ बगलामुखी,
लिखूं चालीसा आज ॥
कृपा करहु मोपर सदा,
पूरन हो मम काज ॥

॥ चौपाई ॥
जय जय जय श्री बगला माता ।
आदिशक्ति सब जग की त्राता ॥ १ ॥

बगला सम तब आनन माता ।
एहि ते भयउ नाम विख्याता ॥ २ ॥

शशि ललाट कुण्डल छवि न्यारी ।
असतुति करहिं देव नर-नारी ॥ ३ ॥

पीतवसन तन पर तव राजै ।
हाथहिं मुद्गर गदा विराजै ॥ 4 ॥

तीन नयन गल चम्पक माला ।
अमित तेज प्रकटत है भाला ॥

रत्न-जटित सिंहासन सोहै ।
शोभा निरखि सकल जन मोहै ॥

आसन पीतवर्ण महारानी ।
भक्तन की तुम हो वरदानी ॥

पीताभूषण पीतहिं चन्दन ।
सुर नर नाग करत सब वन्दन ॥ 8 ॥

एहि विधि ध्यान हृदय में राखै ।
वेद पुराण संत अस भाखै ॥

अब पूजा विधि करौं प्रकाशा ।
जाके किये होत दुख-नाशा ॥

Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा

प्रथमहिं पीत ध्वजा फहरावै ।
पीतवसन देवी पहिरावै ॥

कुंकुम अक्षत मोदक बेसन ।
अबिर गुलाल सुपारी चन्दन ॥ 12 ॥

माल्य हरिद्रा अरु फल पाना ।
सबहिं चढ़इ धरै उर ध्याना ॥

धूप दीप कर्पूर की बाती ।
प्रेम-सहित तब करै आरती ॥

अस्तुति करै हाथ दोउ जोरे ।
पुरवहु मातु मनोरथ मोरे ॥

मातु भगति तब सब सुख खानी ।
करहुं कृपा मोपर जनजानी ॥ 16 ॥

त्रिविध ताप सब दुख नशावहु ।
तिमिर मिटाकर ज्ञान बढ़ावहु ॥

बार-बार मैं बिनवहुं तोहीं ।
अविरल भगति ज्ञान दो मोहीं ॥

पूजनांत में हवन करावै ।
सा नर मनवांछित फल पावै ॥

सर्षप होम करै जो कोई ।
ताके वश सचराचर होई ॥ 20 ॥

Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा

तिल तण्डुल संग क्षीर मिरावै ।
भक्ति प्रेम से हवन करावै ॥

दुख दरिद्र व्यापै नहिं सोई ।
निश्चय सुख-सम्पत्ति सब होई ॥

फूल अशोक हवन जो करई ।
ताके गृह सुख-सम्पत्ति भरई ॥

फल सेमर का होम करीजै ।
निश्चय वाको रिपु सब छीजै ॥ 24 ॥

गुग्गुल घृत होमै जो कोई ।
तेहि के वश में राजा होई ॥

गुग्गुल तिल संग होम करावै ।
ताको सकल बंध कट जावै ॥

बीलाक्षर का पाठ जो करहीं ।
बीज मंत्र तुम्हरो उच्चरहीं ॥

एक मास निशि जो कर जापा ।
तेहि कर मिटत सकल संतापा ॥ 28 ॥

घर की शुद्ध भूमि जहं होई ।
साध्का जाप करै तहं सोई ॥

सेइ इच्छित फल निश्चय पावै ।
यामै नहिं कदु संशय लावै ॥

Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा

अथवा तीर नदी के जाई ।
साधक जाप करै मन लाई ॥

दस सहस्र जप करै जो कोई ।
सक काज तेहि कर सिधि होई ॥ 32 ॥

जाप करै जो लक्षहिं बारा ।
ताकर होय सुयशविस्तारा ॥

जो तव नाम जपै मन लाई ।
अल्पकाल महं रिपुहिं नसाई ॥

सप्तरात्रि जो पापहिं नामा ।
वाको पूरन हो सब कामा ॥

नव दिन जाप करे जो कोई ।
व्याधि रहित ताकर तन होई ॥ 36 ॥

ध्यान करै जो बन्ध्या नारी ।
पावै पुत्रादिक फल चारी ॥

प्रातः सायं अरु मध्याना ।
धरे ध्यान होवैकल्याना ॥

कहं लगि महिमा कहौं तिहारी ।
नाम सदा शुभ मंगलकारी ॥

पाठ करै जो नित्या चालीसा ।
तेहि पर कृपा करहिं गौरीशा ॥ 40 ॥

॥ दोहा ॥
सन्तशरण को तनय हूं,
कुलपति मिश्र सुनाम ।
हरिद्वार मण्डल बसूं ,
धाम हरिपुर ग्राम ॥

उन्नीस सौ पिचानबे सन् की,
श्रावण शुक्ला मास ।
चालीसा रचना कियौ,
तव चरणन को दास ॥

इसे भी पढ़ें:-

बगलामुखी चालीसा लिरिक्स, Baglamukhi chalisa lyrics Video


Baglamukhi Chalisa lyrics in English

In this article, you are also being given the Hindi and English lyrics of Baglamukhi chalisa lyrics in English, Shri Raghuveer Bhakt Hitkari and I hope that Baglamukhi chalisa lyrics In English.

Here you can read Baglamukhi chalisa lyrics in English –

॥ Baglamukhi Chalisa Lyrics ॥

॥ dohaa ॥
sir navaa_i Baglamukhi,
likhoon chaaleesaa aaj ॥
kripaa karahu mopar sadaa,
pooran ho mam kaaj ॥

॥ chaupaa_ii ॥
jay jay jay shree bagalaa maataa . Aadishakti sab jag kee traataa ॥ 1 ॥

bagalaa sam tab aanan maataa . Ehi te bhaya_u naam vikhyaataa ॥ 2 ॥

shashi lalaaṭ kuṇaḍaal chhavi nyaaree . Asatuti karahin dev nar-naaree ॥ 3 ॥

peetavasan tan par tav raajai . Haathahin mudgar gadaa viraajai ॥ 4 ॥

teen nayan gal champak maalaa . Amit tej prakaṭat hai bhaalaa ॥

ratn-jaṭit sinhaasan sohai . Shobhaa nirakhi sakal jan mohai ॥

aasan peetavarṇa mahaaraanee . Bhaktan kee tum ho varadaanee ॥

peetaabhooṣaṇa peetahin chandan . Sur nar naag karat sab vandan ॥ 8 ॥

ehi vidhi dhyaan hriday men raakhai . Ved puraaṇa snt as bhaakhai ॥

ab poojaa vidhi karaun prakaashaa . Jaake kiye hot dukh-naashaa ॥

Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा

prathamahin peet dhvajaa faharaavai . Peetavasan devee pahiraavai ॥

kunkum akṣat modak besan . Abir gulaal supaaree chandan ॥ 12 ॥

maaly haridraa aru fal paanaa . Sabahin chaḍhxi dharai ur dhyaanaa ॥

dhoop deep karpoor kee baatee . Prem-sahit tab karai aaratee ॥

astuti karai haath dou jore . Puravahu maatu manorath more ॥

maatu bhagati tab sab sukh khaanee . Karahun kripaa mopar janajaanee ॥ 16 ॥

trividh taap sab dukh nashaavahu . Timir miṭaakar gyaan baḍhxaavahu ॥

baar-baar main binavahun toheen . Aviral bhagati gyaan do moheen ॥

poojanaant men havan karaavai . Saa nar manavaanchhit fal paavai ॥

sarṣap hom karai jo koii . Taake vash sacharaachar hoii ॥ 20 ॥

Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा

til taṇaḍaul sng kṣeer miraavai . Bhakti prem se havan karaavai ॥

dukh daridr vyaapai nahin soii . Nishchay sukh-sampatti sab hoii ॥

fool ashok havan jo kara_ii . Taake grih sukh-sampatti bhara_ii ॥

fal semar kaa hom kareejai . Nishchay vaako ripu sab chheejai ॥ 24 ॥

guggul ghrit homai jo koii . Tehi ke vash men raajaa hoii ॥

guggul til sng hom karaavai . Taako sakal bndh kaṭ jaavai ॥

beelaakṣar kaa paaṭh jo karaheen . Beej mntr tumharo uchcharaheen ॥

ek maas nishi jo kar jaapaa . Tehi kar miṭat sakal sntaapaa ॥ 28 ॥

ghar kee shuddh bhoomi jahn hoii . Saadhkaa jaap karai tahn soii ॥

sei ichchhit fal nishchay paavai . Yaamai nahin kadu snshay laavai ॥

Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा

athavaa teer nadee ke jaa_ii . Saadhak jaap karai man laa_ii ॥

das sahasr jap karai jo koii . Sak kaaj tehi kar sidhi hoii ॥ 32 ॥

jaap karai jo lakṣahin baaraa . Taakar hoy suyashavistaaraa ॥

jo tav naam japai man laa_ii . Alpakaal mahn ripuhin nasaa_ii ॥

saptaraatri jo paapahin naamaa . Vaako pooran ho sab kaamaa ॥

nav din jaap kare jo koii . Vyaadhi rahit taakar tan hoii ॥ 36 ॥

dhyaan karai jo bandhyaa naaree . Paavai putraadik fal chaaree ॥

praatah saayn aru madhyaanaa . Dhare dhyaan hovaikalyaanaa ॥

kahn lagi mahimaa kahaun tihaaree . Naam sadaa shubh mngalakaaree ॥

paaṭh karai jo nityaa chaaleesaa . Tehi par kripaa karahin gaureeshaa ॥ 40 ॥

॥ dohaa ॥
santasharaṇa ko tanay hoon,
kulapati mishr sunaam . Haridvaar maṇaḍaal basoon ,
dhaam haripur graam ॥

unnees sau pichaanabe san kee,
shraavaṇa shuklaa maas . Chaaleesaa rachanaa kiyau,
tav charaṇaan ko daas ॥

Baglamukhi Chalisa Lyrics बगलामुखी चालीसा, No.1 Best Baglamukhi Chalisa
Baglamukhi Chalisa Lyrics, बगलामुखी चालीसा लिरिक्स

Benefits of Baglamukhi Chalisa – बगलामुखी चालीसा पाठ करने के लाभ

बगलामुखी माता को और किस एक नाम से जाना जाता है?

बगलामुखी माता को पीताम्बरा माता के नाम से भी जाना जाता है.

क्या बगलामुखी चालीसा का पाठ स्त्रियाँ भी कर सकती है?

जी हाँ, बगलामुखी चालीसा का पाठ स्त्रियाँ भी कर सकती है.

बगलामुखी चालीसा पाठ करने से क्या लाभ है?

माँ बगलामुखी अपने भक्तों की सभी प्रकार से रक्षा करतीं हैं। जो लोग माँ बगलामुखी की उपासना करतें हैं उनके जीवन से कष्ट उसी प्रकार दूर हो जातें हैं जिस प्रकार जंगल में लगी आग सभी वृक्षों को समाप्त कर देती है। बगलामुखी साधना से सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा का नाश हो जाता है। यदि वास्तव में आप अपने जीवन को सफल करना चाहते हैं तो आज ही माँ बगलामुखी की शरण ले लीजिये।

क्या बिना दीक्षा लिए भी माँ बगलामुखी चालीसा पाठ कर सकते हैं?

Baglamukhi Chalisa (बगलामुखी चालीसा पाठ) यदि आप दीक्षा लेकर पाठ करते हैं तो इसका प्रभाव बहुत तीव्र होता है लेकिन आप बिना दीक्षा लिए भी पाठ कर सकते हैं।

बगलामुखी चालीसा पाठ करने से क्या नियम है?

Baglamukhi Chalisa ( बगलामुखी चालीसा ) का पाठ करने के लिए सर्वप्रथम स्नान करके अपने आप को बाह्य रूप से पवित्र कर लें। इसके पश्चात पीले रंग के कपड़े पहनकर पीले रंग का आसान बिछायें और उस पर बैठ जाएँ। सरसो के तेल का दीपक जलाएं। सबसे पहले अपने गुरु , गणेश जी एवं भैरव जी का ध्यान करके माँ बगलामुखी का ध्यान करें। उनको पीले पुष्प अर्पित करें। पीले प्रसाद का भोग लगाएं। फिर भक्ति भाव से बगलामुखी चालीसा का पाठ करें। चालीसा के बाद 108 बार मृत्युंजय मंत्र – हौं जूं सः का जप रुद्राक्ष माला से करें । ध्यान रहे कि बिना मृत्युंजय मंत्र के बगलामुखी साधना अपूर्ण रहती है। इसके पश्चात माँ बगलामुखी को अपनी संपूर्ण पूजा समर्पित करें और आसन से उठ जाएँ। यदि बगलामुखी दीक्षा लेकर आप यह पाठ करते हैं तो इस साधना से तुरंत लाभ मिलता है। हो सके तो बगलामुखी चालीसा के पाठ से पहले बगलामुखी षोडशोपचार पूजन भी करें ।

 

आशा करता हूँ की यह Baglamukhi chalisa lyrics, बगलामुखी चालीसा लिरिक्स जरुर पसंद आया होगा अगर आपको यह Baglamukhi chalisa lyrics, बगलामुखी चालीसा लिरिक्स पसंद आया हो तो – “कमेन्ट जरूर करें |”

रागों की बंदिशों के हिंदी नोटेशन, फ़िल्मी गानों के हिंदी नोटेशन, सुपरहिट भजनों के हिंदी नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु, और टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी पाने के लिए   “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर F O L L O W करें |

और S U B S C R I B E करें मेरे y o u t u b e चैनल “sur sarita techknow-Youtube” “S U R  S A R I T A  T E C H K N O W” – You tube को |

P L E A S E   C O M M E N T और शेयर जरूर करें ||

धन्यवाद् पवन शास्त्री ( सुर सरिता भजन )

Share on:

Leave a Comment