Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स

इस Article में आपको Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स का हिंदी सरगम नोट्स भी दिया जा रहा है और उम्मीद करता हूँ कि यह Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स जरूर Helpful होगा |

Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स

यहाँ Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स दिया गया है-

  • Song- Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics
  • तर्ज:- बाबुल की दुआएं लेती जा
  • Artist- मनोज बरमन, सोहम
  • Album- जय बमलेश्वरी माँ
  • Bhajan – Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics
Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स
Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उसका भोग लगा जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

ना छत्र बना सका सोने का,
ना चुनरी घर मेरे तारों जड़ी ||

ना पेडे बर्फी मेवा है माँ,
बस श्रद्धा है नैन बिछाए खड़ी ||
इस श्रद्धा की रख लो लाज हे माँ,
इस अर्जी को ना ठुकरा जाना ||

जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उसका भोग लगा जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

जिस घर के दीये में तेल नहीं,
वहाँ जोत जलाऊं मैं कैसे ||

मेरा खुद ही बिछौना धरती पर,
तेरी चौकी सजाऊं मैं कैसे ||

जहाँ मैं बैठा वहीं बैठ के माँ,
बच्चों का दिल बहला जाना ||

जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उसका भोग लगा जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

तू भाग्य बनाने वाली है,
माँ मैं तकदीर का मारा हूँ ||

हे दांती संभालो भिखारी को,
आखिर तेरी आँख का तारा हूँ ||

मै दोषी तू निर्दोष है माँ,
मेरे दोषों को तू भुला जाना ||

जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उसका भोग लगा जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे,
निरधन के घर भी आ जाना ||

जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उसका भोग लगा जाना ||

कभी फुरसत हो तो जगदंबे ||

माता के अन्य भजन-

Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Video


Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Sargam Notes, कभी फुरसत हो तो जगदंबे सरगम नोट्स

Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Sargam Notes, कभी फुरसत हो तो जगदंबे सरगम नोट्स लगने वाले स्वर:-

  • मन्द्र सप्तक में नि और मध्य सप्तक में सा, रे, कोमल ग, म, प और ध का प्रयोग किया गया है |
  • इस भजन में सभी ग कोमल ही प्रयोग किये गये है अतः कोमल ग को दर्शाने के लिए किसी भी चिन्ह का प्रयोग नहीं किया गया है |

कभी  फुरसत होsतोs     जगदंबे,
सासा रेरेसासा  रे- सा- सासारेसा.नि
निरधन    के घर भी आ जाsना,
.नि.निसारे रे  सारे ग  रे- रेसासा

कभी  फुरसत होsतोs     जगदंबे,
सासा रेरेसासा  रे- सा- सासारेसा.नि
निरधन    के घर भी आ जाsना,
.नि.निसारे रे  सारे ग  रे- रेसासा

जोs     रूsखा सूखा    दियाs   हमें,
सासा रेरेसासा  रे-सा- सासारे सा.नि
कभी  उस का भोsग  लगा जाना,
.नि.नि सारे रे   सारेग    रे-रे सासा

कभी  फुरसत होsतोs     जगदंबे,
सासा रेरेसासा  रे- सा- सासारेसा.नि
निरधन    के घर भी आ जाsना,
.नि.निसारे रे  सारे ग  रे- रेसासा

ना छत्र बना सकाs सोने का,
प- पध  पम  पमग  गम   प
ना चुनरीs घर  मेsरेs ताsरों जड़ी,
प पधपम  गग मपग  मगरे सासा

ना  पेडे बर्फी मेsवा हैs  माँ,
प-  पध  पम   पमग गम प
बस श्रद्धा है   नैssन  बिछाए खड़ी,
पप   धप  म ग-मपग मगरे   सासा

इस   श्रद्धाs की रख   लो  लाsज  हे माँ,
सासा रेरेसा   सा रे-सा सा सासारे सा.नि
इस     अर्जीs   को ना    ठुकरा जाना,
.नि.नि  सारेरेसा  रे    ग     रे-रे   सासा

जोs रूsखा    सूखा   दियाs हमें,
सासा रेरेसासा रे-सा- सासारे सा.नि
कभी उस का भोsग लगा जाना,
.नि.नि सारे रे  सारेग    रे-रे सासा

जिस घर  केs दीये में तेल नहीं,
प-  पध पम  पम  ग  गम  प-
वहाँ जोsत  जलाsऊंs मैंs कैसे,
पप   धपम गगमपग   मग रेसासा

मेरा खुद हीs बिछौना धरती पर,
प-  पध पम    पमग    गम   प-
तेरी चौsकी सजाsऊं मैंs  कैsसे,
पप  धपम  गगमपग मग रेसासा

जहाँ  मैंs बैठा   वहीं    बैssठ    के माँ,
सासा रेरे सासा रे-सा सासासारे सा.नि
बच्चोंs   का दिल बहला जाsना,
.नि.निसारे रे  सारे   गरे-   रेसासा

जोs    रूsखा  सूखा    दियाs   हमें,
सासा  रेरेसासा  रे-सा- सासारे  सा.नि
कभी उस का भोsग लगा जाना,
.नि.नि सारे रे   सारेग  रे-रे  सासा

तू भाग्य   बनाsनेs वाली है,
प- पध  पमपमग  गम  प
माँs   मैंs    तकदीर काs मारा हूँ,
पप  धपम गगमपग मग  रेसा सा

हे   दांती संभालो भिखारी को,
प- पध   पमपम  गगम    प
आsखिर तेरी आँsख काs तारा हूँ,
पपधपम  गग मपग  मग   रेसा सा

मैs  दोsषी   तूs   निर्दोsषs  है माँ,
सासा रेरेसा सारे- सासासारे सा.नि
मेरे दोषों  को तूs भुला    जाsना,
.नि.निसारे रे   सारे  ग रे- रेसासा

जोs    रूsखा  सूखा    दियाs   हमें,
सासा  रेरेसासा  रे-सा- सासारे  सा.नि
कभी उस का भोsग लगा जाना,
.नि.नि सारे रे   सारेग  रे-रे  सासा

कभी  फुरसत होsतोs     जगदंबे,
सासा रेरेसासा  रे- सा- सासारेसा.नि
निरधन    के घर भी आ जाsना,
.नि.निसारे रे  सारे ग  रे- रेसासा

कभी  फुरसत होsतोs     जगदंबे,
सासा रेरेसासा  रे- सा- सासारेसा.नि
निरधन    के घर भी आ जाsना,
.नि.निसारे रे  सारे ग  रे- रेसासा

जोs    रूsखा  सूखा    दियाs   हमें,
सासा  रेरेसासा  रे-सा- सासारे  सा.नि
कभी उस का भोsग लगा जाना,
.नि.नि सारे रे   सारेग  रे-रे  सासा

कभी  फुरसत होsतोs     जगदंबे,
सासा रेरेसासा  रे- सा- सासारेसा.नि
निरधन    के घर भी आ जाsना,
.नि.निसारे रे  सारे ग  रे- रेसासा

Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स
Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics

I Hope You Like Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स

उम्मीद करता हूँ की यह Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स जरुर पसंद आया होगा अगर आपको यह Kabhi Fursat Ho to Jagdambe Lyrics, कभी फुरसत हो तो जगदंबे लिरिक्स पसंद आया हो तो –

“कमेन्ट जरूर करें |”

रागों की बंदिशों के हिंदी नोटेशन, फ़िल्मी गानों के हिंदी नोटेशन, सुपरहिट भजनों के हिंदी नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु, और टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी पाने के लिए   “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर F O L L O W करें |

और S U B S C R I B E करें मेरे y o u t u b e चैनल “sur sarita techknow-Youtube” “S U R  S A R I T A  T E C H K N O W” – You tube को |

P L E A S E   C O M M E N T और शेयर जरूर करें ||

धन्यवाद्
पवन शास्त्री ( सुर सरिता टेक्नो )

Thank you

Leave a Comment