Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics With Sargam Notes

यहाँ गंगा की हर मौज में मैंने लिरिक्स, Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics With Sargam Notes और इसका हिंदी में नोटेशन भी दिया जा रहा है | गंगा की हर मौज में मैंने लिरिक्स, Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics बहुत ही प्यारा भजन है |

Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics | गंगा की हर मौज में मैंने लिरिक्स

Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics

Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics

यहाँ Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics In Hindi दिया गया है –

गंगा की हर मौज में मैंने,
शिव की मूरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

गंगा की हर मौज में मैंने,
शिव की मूरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

कभी दिखेवे चढ़े बैल पर,
कभी समाधी रूप दिखे |
कभी वो गिरजा संग विराजे,
कभी नाग संग खेल रहे ||

उनके चरण सरोज से लिपटी,
सारी कुदरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

ज्योतिर्लिंग के रूप में उनके,
हुए हैं पावन दर्शन भी |
लंकापति लंकेश को देखा,
करते उनका चिंतन भी ||

तीन लोक के उसके खजाने,
उसकी दौलत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

गंगा की हर मौज में मैंने,
शिव की मूरत देखी है |
रोम – रोम ये हुआ है पुलकित,
ऐसी सूरत देखी है ||

शिव की मूरत देखी है,
शिव की मूरत देखी है ||

ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय

इसे भी जानें-

यहाँ Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics Video देखें –

Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics


गंगा की हर मौज में मैंने सरगम नोट्स | Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Sargam Notes

इस गंगा की हर मौज में मैंने सरगम नोट्स, Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Sargam Notes में लगने वाले स्वर:-

  • मध्य सप्तक में सा, रे, दोनों ग, म, प, ध, कोमल नि और फिर तार सप्तक में सां और रें प्रयोग किया गया है |
  • इस भजन में ग और नि पूर्णतः कोमल हैं जिसमें शुद्ध ग का यदा – कदा ही प्रयोग किया गया है इसलिए शुद्ध ग को पहचानने के लिए इस ( / ) चिन्ह का प्रयोग किया गया है |
  • इस भजन में ग और नि कोमल होने के कारण यह भजन थाट काफी पर आधारित है |
  • अगर आपको राग काफी का संपूर्ण परिचय, स्वर विस्तार, आलाप – तान, बंदिश नोटेशन पाने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें :-

Raag Kafi Parichay and Bandish Notation

यहाँ गंगा की हर मौज में मैंने सरगम नोट्स, Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Sargam Notes दिया गया है –

गंगा की हर मौज   में  मैंने
रेंरें     रें    रें  सांसां सां निध
शिव की मूरत देsखी है
धसां सां निध पमम प

रोम  रोम   ये हुआ है   पुलकित
पनि निनि नि धध नि धधपप
ऐसी सूरत देखी   है
धध  पपप  मग/ ग/

शिव की मूरत देखी है
सा   सा  रेगग  रेरे  रे
शिव की मूरत देखी है
सा    सा  रेपप  गग  रे

गंsगाs  कीs हरs   मौsज में मैंsनेss
रेमपध  पध  पमरे रेमप   ध  पधपमरे
शिव  कीs मूsरsत देखी है
रेम   पध  पधपमरे रेग ग

रोम रोम     ये हुआ है पुलकित
पनि निनि नि धध नि धधपप
ऐसी सूरत देखी है
धध  पपप मग/ ग/

शिव की मूरत देखी है
सा   सा  रेगग  रेरे  रे
शिव की मूरत देखी है
सा    सा रेपप  गग  रे

कभी  दिखेवे  चढ़े   बैल  पर
सांसां सांसांरें सांसां निध प
कभी समाधी रूप दिखे
मम    पधनि धध धध

कभी  वो  गिरजा संग विराजे
सांसां सां   सांरें  सांसां निधप
कभी नाग संग   खेल रहे
मम  पध   निध धध  ध

उनकेs चरणss  सरोज से लिपटीss
रेमपध पधपमरे रेमप  ध पधपमरे
साsरीs कुदरतss देखी है
रेमपध  पधपमरे  रेग  ग

रोम रोम    ये  हुआ है पुलकित
पनि निनि नि धध नि धधपप
ऐसी सूरत देखी है
धध  पपप मग/ ग/

शिव की मूरत देखी है
सा   सा   रेगग  रेरे  रे
शिव की मूरत देखी है
सा    सा  रेपप  गग रे

ज्योतिर्लिंग केs  रूप   में उनके
सांसांसां      सांरें सांसां नि धप
हुए   हैं पावन दर्शन भी
मम प  धनि धधध ध

लंकापति लंsकेश   को देखा
सांसांसां  सांरेंसांसां नि धप
करते उनका चिंतन भी
मम   पधनि धधध ध

तीsन लोsक केss उसके खजाsनेs
रेमप  धपध  पमरे रेमप धपधपमरे
उसकीs दौsलतs देखी है
रेमपध  पधपमरे  रेग  ग

रोम  रोम   ये  हुआ है पुलकित
पनि निनि नि धध नि धधपप
ऐसी सूरत देखी है
धध  पपप मग/ ग/

शिव की मूरत देखी है
सा    सा  रेगग रेरे   रे
शिव की मूरत देखी है
सा    सा  रेपप गग रे

गंगा की हर मौज  में  मैंने
रेंरें     रें    रें  सांसां सां निध
शिव की मूरत देsखी है
धसां सां निध पमम प

रोम   रोम  ये   हुआ है पुलकित
पनि निनि नि धध  नि धधपप
ऐसी सूरत देखी   है
धध पपप   मग/ ग/

शिव की मूरत देखी है
सा   सा  रेगग  रेरे  रे
शिव की मूरत देखी है
सा    सा  रेपप गग रे

Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics

Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics

आशा करता हु कि गंगा की हर मौज में मैंने लिरिक्स, Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics With Sargam Notes अच्छा लगा होगा यदि आपको गंगा की हर मौज में मैंने लिरिक्स, Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics अच्छा लगा तो –

“कमेन्ट जरूर करें |”

रागों की बंदिशों के हिंदी नोटेशन, फ़िल्मी गानों के हिंदी नोटेशन, सुपरहिट भजनों के हिंदी नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु, और टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी पाने के लिए   “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर F O L L O W करें | और S U B S C R I B E करें मेरे youtube चैनल sur sarita techknow-Youtube को |

धन्यवाद्
पवन शास्त्री ( सुर सरिता टेक्नो )

I Hope you Like Ganga Ki Har Mauj Mein Maine Lyrics

To get Hindi notation of ragas ki bandish, Hindi notation of film songs, Hindi notation of superhit bhajans, Hindi notation of folk songs, interpretations of Hindustani music, reviews of musical instruments, and technology-related information “S U R  S A R I T A  T E C H K N O W” Please FOLLOW And S U B S C R I B E to my youtube channel sur sarita techknow-Youtube .

P L E A S E C O M M E N T and please share ||

Thank You For Visit My Site

Leave a Comment