Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics, ओम जय जगदीश हरे लिरिक्स

Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics And Sargam notes, ओम जय जगदीश हरे आरती लिरिक्स,

इस आर्टिकल में आपको ओम जय जगदीश हरे आरती लिरिक्स , Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics and notation दिया जा रहा है और आशा करता हू कि यह ओम जय जगदीश हरे आरती, Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics, आपको बहुत पसंद आएगा |

Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics In Hindi

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे

भक्तजनों के संकट क्षण में दूर करे॥
 
जो ध्यावै फल पावै, दुख बिनसे मन का।
सुख-संपत्ति घर आवै, कष्ट मिटे तन का
 
ॐ जय जगदीश हरे….
 
मात-पिता तुम मेरे, शरण गहूं किसकी।
तुम बिनु और न दूजा, आस करूं जिसकी
 
ॐ जय जगदीश हरे…..
 
तुम पूरन परमात्मा, तुम अंतरयामी॥
पारब्रह्म परेमश्वर, तुम सबके स्वामी
 
ॐ जय जगदीश हरे……
 
तुम करुणा के सागर तुम पालनकर्ता।
मैं मूरख खल कामी, कृपा करो भर्ता
 
ॐ जय जगदीश हरे,……
 
तुम हो एक अगोचर, सबके प्राणपति।
किस विधि मिलूं दयामय! तुमको मैं कुमति
 
ॐ जय जगदीश हरे………..
 
दीनबंधु दुखहर्ता, तुम ठाकुर मेरे।
अपने हाथ उठाओ, द्वार पड़ा तेरे
 
ॐ जय जगदीश हरे………..
 
विषय विकार मिटाओ, पाप हरो देवा।
श्रद्धा-भक्ति बढ़ाओ, संतन की सेवा
 
ॐ जय जगदीश हरे………..
 
तन-मन-धन और संपत्ति, सब कुछ है तेरा।
तेरा तुझको अर्पण क्या लागे मेरा
 
ॐ जय जगदीश हरे………..
 
जगदीश्वरजी की आरती जो कोई नर गावे।
कहत शिवानंद स्वामी, मनवांछित फल पावे
यहाँ Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics In Hindi विडियो देखें –
पुनः Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics जारी …
ॐ जय जगदीश हरे………..
 
ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे
भक्तजनों के संकट क्षण में दूर करे॥
 
जो ध्यावै फल पावै, दुख बिनसे मन का।
सुख-संपत्ति घर आवै, कष्ट मिटे तन का
 

ॐ जय जगदीश हरे….


Om Jai Jagdish Hare aarti Sargam Notes

विष्णु जी की यह Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics विश्व प्रसिद्ध आरतियों में से एक है | किसी भी शुभ कार्यक्रम में आदि अनेको अनुष्ठानो, पूजन समारोह एवं अनुष्ठान गाया जाता है |
यहाँ Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics and notation दिया गया है एवं इसमें लगने वाले स्वर –

  • इस Om Jai Jagdish Hare aarti Sargam Notes में सभी शुद्ध स्वरों का प्रयोग किया गया है | आप सभी जानते हैं की शुद्ध स्वरों के थाट को बिलावल थाट एवं इसके राग को राग बिलावल कहा जाता है तो –
    राग बिलावाल की बंदिश नोटेशन के साथ एवं इसका स्वर विस्तार तथा आलाप और तान के लिए नीचे क्लिक करें –
    https://www.sursaritatechknow.com/2020/10/raag-bilawal.html

यहाँ से Om Jai Jagdish Hare aarti Sargam Notes शुरू है ..

सा    सा-  सासा  सा-.नि  सारे-
ओम  जय  जग   दीsश  हरे
अथवा –
सा सासा सासा सा- .नि  सारे


सा    सा-  सासा  सा-.नि  सारे-
ओम  जय  जग   दीsश  हरे
अथवा –
सा सासा सासा सा- .नि  सारे

रे ग   म-  पप   धपम  गरे
स्वामी जय  जग  दीsश  हरे
रेगरे  गम  मग  रेगरेसा
भक्त जनों  केs   संsकट
सासा  रे-  गरेसा  .नि.ध-
क्षण  में   दूsर   करेs

रे     रे-   रेरे  गरेसा   .निसा
ओम  जय जग  दीsश    हरे
रे-   सा .नि  रे-    सा.नि  रेसासा-
जो   ध्या    वेs       फल   पाsवेs
पप   मम  ग  रेसारे-
दुख  विन  से  मनकाs

पप     पध  पम   ग  रेसा  रे-
स्वामी  दुख  विन   से  मन काs
रेग   रेगगम  मग  रेगरेसा
सुख  संपत्ति  घर  आsवेs
सा-रे  रेगरे  सा.नि.ध
कष्ट मिटेs    तनका

रे    रे-   रेरे  गरेसा  .निसा
ओम जय जग  दीsश   हरे

रे-सा  .निरे-  सा.नि  रेसासा
मात  पिता   तुम    मेsरे
पपम  मग रेसारे-
शरण गहू किसकीs
पप    पधप  मग ग  रेसारे-
स्वामी शरण  गहू  मैं किसकीs

Om Jai Jagdish Hare aarti Sargam Notes जारी है ….

रेग  रेग  गम  मग  रेगरेसा
तुम बिन  और  नs    दुsजाs
सा-रे   रेग  रे   सा.नि.ध
आsस  करु मै   किसकी
रे    रे-   रेरे  गरेसा  .निसा

ओम जय जग  दीsश   हरे
रेसा   सा.निरेसा सा.नि  रे-सासा-

तुम    पुsरण   पर   माsत्माs
पप  ममग  रेसारे-
तुम अन्तर  यामिs
पप    पध  पमग   रेसारे-
स्वामी तुम  अन्तर   यामिs

रेगरे  म-म  मग  रेगरेसा-
पार   ब्रह्म पर   मेsश्वरs
सासा रेरे गरे  सा.नि.ध
तुम सब केs     स्वामी

रे     रे-  रेरे   गरेसा .निसा
ओम  जय जग  दीsश  हरे

रेसा  सा.नि  रेसा  सा.नि  रेसासा
तुम  करु    णाs    केs     सागर
प प  मम ग  रेसारे-
तुम  पालण   कर्ताs
पप    पध   पमग   रेसारे-
स्वामी  तुम  पालण   कर्ताs

 

रेग  रेगमम   मग  रेगरेसा
मै   मुsरख  खल  काsमीs
सा रे  रेगरे   सा.नि.ध
कृपा   करोs     भsर्ता

रे    रे-   रेरे  गरेसा  .निसा
ओम जय जग  दीsश   हरे

रेसा  सा.नि  रे-सा   .निरेसासा
तुम   होs      एsक  अगोsचर
पपम-   ग-रेसारे-
सबकेs    प्राणपतिs
पप     पधपम  ग-रेसारे-
स्वामी   सबके  प्राणपति

रेग    रेग    मम   गरेग     रेसा
किस  विधि   मिलू   दया      मै
सासारे-  गरे   सा.नि.ध
तुम से  मै     कुमति

रे    रे-   रेरे  गरेसा  .निसा
ओम जय जग  दीsश   हरे

रे-सा  .निरेसा  सा.नि रेसासा
दीन   बsन्धु   दुख  ह-र्ता
पप  म-गग   रेसारे-
तुम  रक्षक    मेsरेs
पप     पध  प-मग  रेसारे-
स्वामी   तुम  रक्षक   मेsरेs

रेगरेग   म-म    गरेगरेसा
अपने    हाsथ   बsढाsओ
सारे   रेगरे  सा.नि.ध
द्वार  पडाs      तेsरेs

रे    रे-   रेरे  गरेसा  .निसा
ओम जय जग  दीsश   हरे

रेसा सा.नि   रेसा
तन  मन    धन 
सा.नि  रेसा  सा
जोs     कुछ   है
पप  म      ग   रेसारे-
सब  ही      है   तेsराs
पप      पध  पम   ग   रेसारे-
स्वामी    सब  ही    है   तेsराs

रेगरेग  गममग   रेगरेसा
तेरा    तुझकोs     अर्पण
सा    रे-गरे   सा.नि.ध
क्या  लाsगेs      मेsराs

रे    रे-   रेरे  गरेसा  .निसा
ओम जय जग  दीsश   हरे

 

रेसा सा  .नि   रेसा 

जगदीश्जी की आरती

 

पप पध  पम गरेसारे-

जो कोई  नर गाsवेs

 

रेगरेग गममग रेगरेसा

कहत शिवानंद स्वामी,

Om Jai Jagdish Hare aarti Sargam Notes अभी जारी है …

सारे-गरे   सा.  नि.ध

मनवांछित फल  पावे

सा    सा-  सासा  सा-.नि  सारे-
ओम  जय  जग   दीsश  हरे ……….

 

आशा करता हूँ कि आपको यह Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics जरूर पसंद आया होगा | Hope you have liked this Om Jai Jagdish Hare aarti lyrics.


कृपया कंमेंट जरूर करें
 ऐसे ही  फ़िल्मी गानों के हिंदी नोटेशन, सुपरहिट भजनों के हिंदी नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु, और टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी पाने के लिए follow बटन पर क्लिक करके  “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर follow करें | और s u b s c r i b e करें मेरे youtube चैनल sur sarita techknow को |
धन्यवाद्
-पवन शास्त्री

Leave a Comment