Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics

इस पोस्ट में Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics के साथ इसका पूरा सरगम नोट भिन्डिया गया है |

Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics

यहाँ ज्योत से ज्योत जलाते चलो लिरिक्स और इसका हिंदी में नोटेशन भी दिया जा रहा है | Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics बहुत ही प्यारा भजन है | इस पोस्ट में हम आपको इस भजन का पूरा लिरिक्स और पूरा नोटेशन दे रहे हैं, और आशा करता हू कि यह Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics And Notation, आपको बहुत पसंद आएगा |

Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics

यहाँ Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics दिया गया है |
स्थाई-
ज्योत से ज्योत जलाते चलो
प्रेम की गंगा बहाते चलो
राह में आये जो दीन दुखी
सब को गले से लगते चलो
 
 
अंतरा –
जिसका ना कोई संगी साथी
इश्वर है रखवाला
जो निर्धन है जो निर्बल है
वो है प्रभु का प्यारा
प्यार के मोती लूटते चलो
 
ज्योत से ज्योत जलाते चलो
प्रेम की गंगा बहाते चलो
 
आशा टूटी, ममता रूठी
छूट गया है किनारा
बंद करो मत द्वार दया का
दे दे कुछ तो सहारा
दीप दया का जलाते चलो
 
ज्योत से ज्योत जलाते चलो
प्रेम की गंगा बहाते चलो
 
छाया है चारों और अँधेरा
भटक गयी है दिशाएं
मानव बन बैठा दानव
किसको व्यथा सुनाएँ
धरती को स्वर्ग बनाते चलो
 
ज्योत से ज्योत जलाते चलो
प्रेम की गंगा बहाते चलो
यहाँ  Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics का विडियो देखें :-

 पुनः Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics जारी है…

कौन है ऊँचा कौन है नीचा
सब में वो ही समाया
भेद-भाव के झूठे भरम में
ये मानव भरमाया
धरम ध्वजा फहराते चलो
 
ज्योत से ज्योत जलाते चलो
प्रेम की गंगा बहाते चलो
 
सारे जगत के कण-कण में है
दिव्य अमरएक आत्मा
एक ब्रह्मा है एक सत्य है
एक ही है परमात्मा
प्राणों से प्राण मिलाते चलो
 
ज्योत से ज्योत जलाते चलो
प्रेम की गंगा बहाते चलो
राह में आये जो दीन दुखी
सब को गले से लगते चलो

Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Sargam Notes

इस भजन Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Sargam Notes में लगने वाले स्वर हैं –
मंद्र सप्तक में कोमल नि फिर मध्य सप्तक में सा, रे, कोमल ग, म, प, कोमल ध, कोमल नि, और सां का प्रयोग हुआ है |
  • इस Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Sargam Notes भजन में प्रयोग किये गए सभी स्वर शुद्ध हैं एवं ग, ध और नि कोमल हैं | सभी ग, ध और नि कोमल है इसलिए किसी चिन्ह का प्रयोग नही किया गया है |

स्थाई-
ज्योsत  से ( ज्योsत ) जलाते चलोsss
सापप   प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा
प्रेम की गंगा बहाते चलो
साम म गग रेसारे .धसा

राह में ( आsये ) जो दीsन दुखीsss
साप प ( पनिध ) प  मगम पमगरेसा
सब को गले से लगाते चलो
साम म गग ग रेसारे .धसा

अंतरा –
जिसकाs  नाs   |  कोई  साsथीs संsगीs
सासानिध निसा | सासा सागमप मपमग
इsश्वर  हैs    रखवाला
गरेसानि निसा सागरेसा
जोs   निर्धन  है | जोs   निर्बलs  हैsss
सासा निधनि सा | सासा सागमप मपमग

वोs  हैs     प्रभु  काs  प्यारा
गरे सानि निसा साग  रेसा
प्याsर के  ( मोsती ) लूटाते  चलोsss
सापप  प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा

Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Sargam Notes जारी है …

प्रेम की गंगा बहाते  चलो
साम म गग  रेसारे .धसा
ज्योsत  से ( ज्योsत ) जलाते चलोsss
सापप   प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा
प्रेम की गंगा बहाते चलो
साम म गग रेसारे .धसा

आsशाss    टूटी  | ममताs  रूsठीs
सासानिधनि सासा | सागमप मपमग
छूsटs    गया  है किनारा
गरेसानि निसा सा गरेसा
बंs    दss        करो |  मत  द्वाsर दयाs   का
सासा निधनि  सासा | सासा सागमप मपम  ग

देs   देs   कुछ  तो सहारा
गरे सानि निसा सा गरेसा
दीsप ( दयाss ) का जलाते  चलोsss
सापप ( पपधप ) प  मगम  पमगरेसा
प्रेम की गंगा बहाते  चलो
साम म गग  रेसारे .धसा

ज्योsत  से ( ज्योsत ) जलाते चलोsss
सापप   प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा
प्रेम की गंगा बहाते चलो
साम म गग रेसारे .धसा

छायाss   है  चारों | औsरs   अँधेsरा
सासानिध नि सासा | सागमप मपमग
भटकs   गयी  है दिशाएं
गरेसानि निसा सा गरेसा
माs नवs      बन | बैsठाs   दाsनव
सासानिधनि सासा | सागमप मपमग

किसकोs  व्यथा  सुनाएँ
गरेसानि  निसा  गरेसा
धरती को ( स्वsर्ग ) बनाते  चलोsss
सापप प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा

Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Sargam Notes अभी जारी है..

प्रेम की गंगा बहाते  चलो
साम म गग  रेसारे .धसा
ज्योsत  से ( ज्योsत ) जलाते चलोsss
सापप   प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा
प्रेम की गंगा बहाते चलो
साम म गग रेसारे .धसा

कौsनss   है  ऊँचा | कौsन है नीsचाs
सासानिध नि सासा | सागम प मपमग
सब मेंs    | वोs    ही समाया
गरे सानि | निसा सा गरेसा

भेsदss   भाव  के | झूsठेs   भरम  में
सासानिध निसा सा | सागमप मपम  ग
येs  मानव   भरमाया
गरे सानिसा  सागरेसा
धरम ( ध्वजा )  फहराते  चलोsss
सापप ( पधप )  मगमम  पमगरेसा

प्रेम की गंगा बहाते चलो
साम म गग रेसारे .धसा
ज्योsत  से ( ज्योsत ) जलाते चलोsss
सापप   प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा
प्रेम की गंगा बहाते चलो
साम म गग रेसारे .धसा

साsरेss   जगत   के | कण कण मेंs हैs
सासानिध निसासा सा | साग मप मप मग
दिsव्यs अमर एक आत्मा
गरेसानि निसा साग रेसा

एsकss   ब्रह्मा है |  एsकs    सsत्य है
सासानिध निसा सा | सागमप  मपम ग
एsकs    ही है  परमात्मा
गरेसानि नि सा सागरेसा
प्राsणों से ( प्राsण )  मिलाते चलोsss
सापप  प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा

प्रेम की गंगा बहाते चलो
साम म गग रेसारे .धसा
ज्योsत  से ( ज्योsत ) जलाते चलोsss
सापप   प  ( पधप )  मगम  पमगरेसा

 

आशा करता हूँ कि आपको यह Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics जरूर पसंद आया होगा | Hope you have liked this Jyot Se Jyot Jagate Chalo Bhajan Lyrics.


कृपया कंमेंट जरूर करें
 ऐसे ही  फ़िल्मी गानों के हिंदी नोटेशन, सुपरहिट भजनों के हिंदी नोटेशन, लोकगीतों के हिंदी नोटेशन, हिन्दुस्तानी संगीत से सम्बन्धी व्याख्याओं, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट्स के रिव्यु, और टेक्नोलॉजी से जुडी जानकारी पाने के लिए follow बटन पर क्लिक करके  “www.sursaritatechknow.com” को  जरूर follow करें | और s u b s c r i b e करें मेरे youtube चैनल sur sarita techknow को |
धन्यवाद्
-पवन शास्त्री

Leave a Comment